स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बजरी के अवैध परिवहन में लिप्त 16 जनों को न्यायालय ने भेजा जेल

Pawan Kumar Sharma

Publish: Oct 21, 2019 09:51 AM | Updated: Oct 21, 2019 09:51 AM

Tonk

एसआईटी टीम की ओर से अवैध बजरी खनन, परिवहन व भंडारण की कार्रवाई के दौरान पकड़े गए 16 जनों को पुलिस ने उपखंड न्यायालय में पेश किया।

पीपलू (रा.क.). एसआईटी टीम की ओर से अवैध बजरी खनन, परिवहन व भंडारण की कार्रवाई के दौरान पकड़े गए 16 जनों को पुलिस ने उपखंड न्यायालय में पेश किया। जहां से सभी को न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया।

read more: टोंक नगर परिषद सभापति सीट हुई सामन्य, 60 वार्डों में होगा पार्षद के लिए चुनाव

एएसआई बालिकिशन शर्मा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी गणेश मीणा निवासी सतवाड़ा थाना नगरफोर्ट, राकेश रैगर निवासी भूरावली थाना पीपलू, सीताराम मीणा निवासी पिनाच थाना फागी, बद्री मोग्या निवासी निमेड़ा खुर्द थाना टोडारायसिंह, सांवरा बैरवा निवासी मूंडिया थाना पीपलू, रामराज जाट निवासी छापरी थाना फागी, जावेद निवासी गहलोद, प्रभु मेघवंशी निवासी डाल थाना नसीराबाद, गणेश निवासी कल्याणपुरा थाना उनियारा, राजाराम मीणा निवासी निमेडा थाना पीपलू, आशीष मीणा निवासी सतवाडा थाना नगरफोर्ट, दीनदयाल जाट निवासी माधोराजपुरा थाना फागी, शैतान रावत निवासी नखर थाना गेगल जिला अजमेर, सावरसिंह रावत निवासी बुबानी थाना गेगल जिला अजमेर, शंकरलाल खारोल निवासी माधोराजपुरा थाना फागी, परशुराम मीणा निवासी सतवाड़ा थाना नगरफोर्ट है।

read more:दो पक्षों में हुई मारपीट के बाद घायल की उपचार के दौरान हुई मौत, पुलिस ने छह जनों के खिलाफ नामजद मामला किया दर्ज

गुजर रहे हैं बजरी से भरे ओवरलोड़ वाहन , सरपंच ने कलक्टर और एसपी को लिखा पत्र
निवाई. उच्चतम न्यायालय की ओर से बजरी खनन पर रोक लगाने के बाद भी बनास नदी क्षेत्र से बजरी का अवैध खनन जोरों पर है। इससे प्रशासन भी संदेह के घेरे में है।

उपखंड क्षेत्र में बजरी से भरी टैक्टर-ट्रॉली, ट्रक, डंपर धड़ल्ले से सडक़ पर दौड़ते रहते हैं, लेकिन प्रशासन खनन माफियाओं के विरूद्ध कार्रवाईनहीं कर रहा है। इसस लग रहा हैकि प्रशासन बेबस है। इस संदर्भ में बड़ागांव सरपंच रामस्वरूप गुर्जर ने बताया क्षेत्र में दिन रात अवैध बजरी से भरें वाहन सडक़ों पर दौड़ाते रहते हैं, लेकिन उन्हें कोई रोकने टोकने वाला नहीं है।

तेज गति से वाहन चलाकर ले जाते हैं, जिससे क्षेत्र में हरदम दुर्घटना का अंदेशा बना रहता है। सरपंच ने बताया कि बजरी से ओवरलोड़ ट्रैक्टर-ट्रॉलियां भरकर चालक बड़ागांव, सिरोही, अगरपुरा, ललवाड़ी, दहलोद, करेड़ा बुजुर्ग सहित कई गांवों से होकर दिन रात जयपुर की ओर जा रहे हैं।

पुलिस प्रशासन व अधिकारियों को इस बारे में कई बार अवगत करा दिया, लेकिन ओवरलोड बजरी से भरे वाहनों के खिलाफ ठोस कार्रवाई नहीं की जाती है। उन्होंने बताया कि प्रतिदिन सुबह चार बजे व देर रात समय करीब 40-50 बजरी से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉलियां बड़ागांव और सिरोही से निकल रही है। सरपंच ने इस संदर्भ में जिला कलक्टर व एसपी को पत्र भेजकर ओवरलोड वाहनों के विरुद्ध कार्रवाईकरने की मांग की हैं।