स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पारे ने लगाया 5 अंक का गोता, जमकर हुआ सर्दी का अहसास

Anil Kumar Rawat

Publish: Oct 23, 2019 00:00 AM | Updated: Oct 22, 2019 21:01 PM

Tikamgarh

मौसम में आए बदलाव के बाद मंगलवार को पारे में 5 अंकों की गिरावट दर्ज की गई। अचानक से आई इस गिरावट के कारण लोगों को जमकर सर्दी का अहसास हुआ

टीकमगढ़. मौसम में आए बदलाव के बाद मंगलवार को पारे में 5 अंकों की गिरावट दर्ज की गई। अचानक से आई इस गिरावट के कारण लोगों को जमकर सर्दी का अहसास हुआ। सुबह-शाम तो लोगों को गर्म कपड़ों की आवश्यकता महसूस होती दिखाई दी। मंगलवार, पिछले तीन वर्षों में सबसे सर्द दिन रिकार्ड किया गया।


मंगलवार को रात्रि का न्यूनतम मापमान 16.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सोमवार को 22 डिग्र्री पर था। पांच अंकों से अधिक की गिरावट के कारण रात्रि को लोगों को सुबह और शाम जमकर सर्दी का अहसास हुआ। दिन में निकली धूप से लोगों को राहत हुई। विदित हो कि पिछले दो दिनों से आसमान में बादल छाए हुए थे। सुबह से मौसम में धुंध सी भी दिखाई दे रही थी। मंगलवार को दिन में मौसम साफ रहा और खिलकर धूप निकली।

 

तीन वर्षों में सबसे सर्द रहा मंगलवार: मंगलवार का दिन पिछले तीन वर्षों में सबसे सर्द दर्ज किया गया। 2017 में जहां 22 अक्टूबर को न्यूनतम तापमान 19.5 डिग्री दर्ज किया था, वहीं 2018 में रात्रि का तापमान 18.3 डिग्री था। इसके साथ ही इस वर्ष 22 अक्टूबर को रात्रि का न्यूनतम तापमान 16.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया हैं।


दिन भी रहा सर्द: पिछले वर्षों से यदि मंगलवार को दिन के तापमान की तुलना की जाए तो इस वर्ष दिन का अधिकतम तापमान भी पिछले वर्षों की तुलना में चार से पांच डिग्री ठंडा बना हुआ हैं। वर्ष 2017 में जहां दिन का अधिकतम तापमान 35 डिग्री था, वहीं 2018 में यह 36 डिग्री दर्ज किया गया था। इस वर्ष दिन का अधिकतम तापमान 31.5 डिग्री दर्ज किया गया हैं।


बारिश का असर: तापमान में देखी जा रही इस गिरावट को बारिश का असर बताया जा रहा हैं। विदित हो कि पिछले पांच वर्ष जिले में लगातार सूखा होने से सभी जलाशय सूखे पड़े हुए थे। वहीं इस वर्ष हुई जोरदार बारिश से सारे जलाशय भरे हुए हैं। वहीं किसानों ने भी अपने खेतों में पानी देना शुरू कर दिया हैं। इसके साथ ही पिछले दो दिन से बदले मौसम का असर भी तापमान पर दिखाई दे रहा हैं।