स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चार साल भी नही चली 4 करोड़ की सड़क

Anil Kumar Rawat

Publish: Aug 18, 2019 04:00 AM | Updated: Aug 17, 2019 20:21 PM

Tikamgarh

सिविल लाइन के बाद अब मऊचुंगी रोड़ भी उखड़ी, गुणवत्ता पर उठे सवाल

टीकमगढ़. नगर पालिका द्वारा बनाई गई डिवाइडर सड़क के हाल-बेहाल हैं। लगभग चार वर्ष पूर्व बनकर तैयार हुई मऊचुंगी रोड़ भी अब जगह-जगह से उखडऩे लगी हैं। अंबेडकर से मऊचुंगी तक लगभग एक दर्जन स्थानों पर तो इसमें कई जगह 5 फीट से भी बड़े गड्ढे हो गए हैं। ऐसे में इस सड़क पर चलना मुश्किल हो रहा हैं, लेकिन नपा का इस पर कोई ध्यान नहीं हैं।


नगर पालिका द्वारा नगर में तीन डिवाइडर सड़कों का निर्माण किया गया हैं। लेकिन यह तीनों सड़कें बनने के साथ ही उखडऩे लगी थी। नपा द्वारा न्यायालय से सिंधी धर्मशाला तक, अंबेडकर तिराहे से नए बसस्टैंड तक एवं गल्र्स कॉलेज से नारायणदास खरे स्टेडियम तक डिवाइडर सड़कों का निर्माण किया गया हैं। सिविल लाइन रोड़ जहां पूर्व में ही कई जगह से उखड़ चुकी हैं और इस बारिश में फिर से उसके गड्ढे खुल गए हैं, वहीं मऊचुंगी सड़क भी इस बारिश में बेहाल हो गई हैं।

 

15 करोड़ से हुआ हैं निर्माण: नपा द्वारा लगभग 15 करोड़ रुपए की लागत से इन तीनों सड़कों का निर्माण किया गया हैं। न्यायालय से सिंधी धर्मशाला तक की सड़क 6 करोड़ एवं अंबेडकर से नए बसस्टैंड तक की सड़क 4 करोड़ रुपए की लागत से बनाई हैं। यह दोनों सड़कें नपा ने हुडको से ऋण लेकर बनाई थी। वहीं जेल की सामने की सड़क भी 3.5 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित कराई गई हैं।


हो गए बड़े गड्ढे: मऊचुंगी रोड़ पर इस बारिश में बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। मऊचुंगी रोड़ पर कृषि विभाग के ऑफिस के सामने जहां चार जगहों पर बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं, वहीं आगे पेट्रोल पंप के सामने भी सड़क का बुरा हाल हैं। ऐसे ही खादी आश्रम के आगे बनी पुलिस के पास बड़ा गड्ढा सड़क पर हो गया हैं। ऐसे ही सड़क के दूसरी ओर भी गड्ढों के कारण वाहन चलाना मुश्किल हो रहा हैं।

 

जोड़ पर धस गई सड़क: इस सड़क का निर्माण पूर्व में एमपीआरडी द्वारा निर्मित की गई सड़क के साथ मिलकर किया गया था। एमपीआरडीसी द्वारा बनाई गई सड़क को जहां से इसे जोड़ा गया हैं, वहीं से नई सड़क धसने लगी हैं। विदित हो कि इस सड़क के निर्माण के साथ ही इसकी गुणवत्ता पर सवाल खड़े होने लगे थे।


वापस की सड़क: जगह-जगह से उखड़ रही इस सड़क के विषय में नपा के सब इंजीनियर एसएल त्रिपाठी ने बताया कि इस सड़क को एमपीआरडीसी को वापस कर दिया गया हैं। लेकिन नपा फिर भी इसमें सुधार कार्य कराएंगी। विदित हो कि हुडको से सड़क निर्माण के लिए आर्थिक सहायता मिलने पर नपा ने यह सड़क एमपीआरडी से ली थी। बनने के बाद ही इसे सड़क विकास निगम को वापस कर दिया गया था अब यह सड़क राष्ट्रीय राज्यमार्ग के पास चली गई हैं।


कहते हैं अधिकारी: बारिश के बाद जहां भी सड़क खराब हुई हैं, वहां की नाप करा ली गई हैं। जल्द ही इसका मेंटिनेंस किया जाएगा। कुछ जगह पर पाइप लाइन के लिए नपा द्वारा ही इसे खोदा गया गया था, इस कारण यह गड्ढे निकल आए हैं। नगर की सीमा में नपा मेंटिनेंस कराएगी।- एसएल त्रिपाठी, सब इंजीनियर, नगर पालिका, टीकमगढ़।