स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बिना बायो मैट्रिक सत्यापन से नहीं मिलेगा राशन

Akhilesh Kumar

Publish: Oct 21, 2019 07:00 AM | Updated: Oct 20, 2019 11:11 AM

Tikamgarh

बुर्जुग और नबालिकों को फिंगर प्रिंट के सत्यापन पर ही राशन दिया जाएगा।

टीकमगढ़.बुर्जुग और नबालिकों को फिंगर प्रिंट के सत्यापन पर ही राशन दिया जाएगा। अगर उनके फिं गरों का मिलान नहीं हो पा रहा है तो उनके नौमिनी परिवार के साथ गांव के ही व्यक्ति को बनाया जाएगा। इसके साथ स्टेट पोर्टेबिलिटी के साथ नेशनल पोर्टेबिलिटी के माध्यम से राशन को वितरण किया जाएगा। भारत की भी राशन की दुकान से राशन को लिया जा सकता है। यह योजना १ जनवरी से शुरू की जाएगी।
एईपीडीएस आधार आधारित सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से जिले के उपभोक्ताओं को राशन वितरण किया जाएगा। पहले फिं गरों का मिलान नहीं होने पर भी राशन का वितरण किया जाता था। लेकिन अब शासन ने इस पर रोक लगा दी है। जिन लोगों के फिंगर नहीं मिल रहे है। उन्हें राशन नहीं दिया जाएगा। उसके लिए परिवार और गांव के किसी एक व्यक्ति को नौमिनी बनाया जाएगा। जिसके फिंगर पर उपभोक्ता के नाम का राशन दिया जाएगा। इसके साथ ही बताया गया कि पलायन करने वाले और दिल्ली में मजदूरी करने वालो के नौमिनी नहीं बनाए जाएगें।


स्टेट पोर्टेबिलिटी के साथ नेशनल पोर्टेबिलिटी पर मिलेगा राशन
एईपीडीएस आधार आधारित सार्वजनिक वितरण प्रणाली में सरकार ने प्रदेश की किसी भी राशन दुकान से उपभोक्ता राशन ले सकता है। इसके साथ ही १ जनवरी से नेशनल पोर्टेबिलिटी में भारत के किसी भी गांव, शहर से राशन ले सकता है। इसमें दिल्ली मजदूरी पर जाने वाले भी वहां से राशन ले सकते है।
इनका कहना
शासन के नियमों पर ही उपभोक्ताओं को राशन दिया जाएगा। जिस उपभोक्ता का फिंगर मिलान नहीं हो पा रहा है, उसको राशन नहीं दिया जाएगा। इसके साथ ही पोर्टेबिलिटी के तहत राशन दिया जा रहा है। जिसमें किसी भी उपभोक्ता राशन दुकान से गायब नहीं हो पाएगा।
नरेश आर्य खाद अधिकारी टीकमगढ़।