स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मुर्हरम पर निकले ताजिए, जगह-जहग हुआ लंगर

Akhilesh Lodhi

Publish: Sep 11, 2019 08:00 AM | Updated: Sep 10, 2019 20:15 PM

Tikamgarh

नगर में मुर्हरम मातमी के साथ मनाया गया। मुर्हरम को लेकर मंगलवार की रात को गुर्राक के साथ निकले। वहीं ताजिया देर शाम तक करबला पहुंचे।

टीकमगढ़.नगर में मुर्हरम मातमी के साथ मनाया गया। मुर्हरम को लेकर मंगलवार की रात को गुर्राक के साथ निकले। वहीं ताजिया देर शाम तक करबला पहुंचे। जगह-जगह ताजियों के साथ जुलूस का स्वागत किया गया। कही पर लंगर आयोजित किए गए तो कही पर सरबत पिलाया गया।
मंगलवार की शाम से ही किले का मैदान राजेंद्र पार्क में शहर के ताजिए एकत्रित किए गए। सभी ताजियों को एक लाइन में स्थान देकर दुआएं मांगी। इसके बाद जुलूस निकाला गया। जुलूस गांधी चौराहा से होते हुए सैलसागर चौराहा, सिंधी धर्मशाला, लुकमान चौराहा, पुरानी नजाई, जवाहर चौराहा, कटरा बाजार, शक्ति टाकीज, तालदरवाजा से निकाला गया। उनकी एक झलक पाने के लिए सड़क के दोनों ओर लोगों की भीड़ लगी हुई थी। इसके साथ ही राजेंद्र पार्क में अखाड़े का आयोजन किया गया। युवाओं ने अखाड़े में अपने-अपने कत्र्तव्य दिखाए।
इन जगहों पर किया गया लंगर
गोसिया कमेटी के सदस्यों ने बताया कि मुर्हरम जुलूस के दौरान नजरबाग पर शरवत पिलाया गया। जामा मस्जिद के सामने खिचिड़ा, नजाई मंडी, कटरा बाजार, पुरानी नगर पालिका, सैलसागर चौराहा, लक्कडखाना, पुराना बस स्टेण्डपर लंगर का आयोजन किया गया।
पुलिस द्वारा की गई चाक चौबंद व्यवस्था


यातायात सूबेदार उत्तम सिंह ने बताया कि ताजिए निकलने के दौरान पुलिस द्वारा यातायात के चाक चौबंद व्यवस्था की गई। सभी चौराहा और तिराहों पर जवानों को तैनात किया गया। पुलिस वाहन द्वारा पूरे शहर में गश्त किया गया। इसके साथ ही हर एक व्यक्ति पर नजर रखी गई। इसके साथ ही जुलूस में इमरजेसी सेवाओं के लिए फायर बिग्रेड, एम्बुलेस साथ चल रहे थे।
करबला के
हिन्दू मुस्लिम एकता का प्रतीक मुर्हरम
नगर में मुर्हरम के दौरान ताजिए सभी मोहल्लों से निकाले गए। हिन्दू-मुस्लिम भाईयों ने ताजिएयों से दुआएं मांगी। शहर में शांति का माहौल बना रहा।