स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

50 हजार की रिश्वत लेते सब इंजीनियर और दलाल गिरफ्तार

Anil Kumar Rawat

Publish: Sep 20, 2019 12:35 PM | Updated: Sep 20, 2019 12:35 PM

Tikamgarh

जतारा जनपद के मोहनगढ़ सेक्टर में पदस्थ सबइंजीनियर ने विकास कार्यों के मूल्यांकन एवं भुगतान के लिए रिश्वत मांगी थी।

टीकमगढ़. लोकायुक्त सागर की टीम ने 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए सब इंजीनियर और उसके दलाल को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया हैं। जतारा जनपद के मोहनगढ़ सेक्टर में पदस्थ सबइंजीनियर ने विकास कार्यों के मूल्यांकन एवं भुगतान के लिए रिश्वत मांगी थी। लोकायुक्त पुलिस की इस कारवाई से पंचायत विभाग में हड़कंप मचा हुआ हैं।


शुक्रवार की सुबह 11 बजे के लगभग लोकायुक्त सागर की टीम ने शिवनगर कॉलोनी स्थित सब इंजीनियर आशीष पटैरिया के निवास पर छापामारी की। यहों से टीम ने 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए सब इंजीनियर आशीष पटैरिया एवं उसके दलाल आशीष खरे को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने रिश्वत के रुपए जब्त करने के बाद इन दोनों के हाथ धुलवाएं। हाथ रंगने के बाद लोकायुक्त पुलिस इन दोनों आरोपियों को लेकर सीधे कोतवाली पहुंची।

 

यह था मामला: सब इंजीनियर पटैरिया द्वारा मोहनगढ़ सेक्टर की पंचायत खाखरौन खास के सरपंच दयाली चढ़ार से विकास कार्यों के मूल्यांकन एवं भुगतान कराने के लिए 50 हजार रुपए की रिश्वत मांगी गई थी। इससे परेशान होकर सरपंच प्रतिनिधि जवाहर उर्फ बब्लू कुशवाहा ने इसकी शिकायत लोकायुक्त पुलिस से की थी। शिकायतकर्ता बब्लू कुशवाहा का कहना था कि सब इंजीनियर द्वारा कच्चे कार्य के लिए 10 प्रतिशत एवं सीसी कार्य के लिए 7 से 8 प्रतिशत कमीशन की मांग की जा रही थी। उन्होंने बताया कि पंचायत में दो सीसी सड़क, हाट बाजार में बनवाए गए शौचालय, खेल मैदान एवं सामुदायिक भवन सहित कुछ अन्य कार्यों के लिए कुल मिलाकर 1.52 लाख रुपए की रिश्वत की मांग की गई थी। इसमें से वह 60 हजार रुपए पहले दे चुके थे। 5 हजार 18 सितम्बर को दिए थे। इसके बाद 50 हजार रुपए देने के लिए आज घर पर बुलाया था।

 

की थी शिकायत: शिकायतकर्ता बब्लू कुशवाहा का कहना हैं कि सब इंजीनियर की इन हरकतों से परेशान होकर उन्होंने 16 सितम्बर को सागर जाकर लोकायुक्त से इसकी शिकायत की थी। लोकायुक्त टीम ने इसकी जांच के बाद आज ट्रेप करने का प्लान बनाया था। उनका कहना था कि रिश्वत लेने के लिए सब इंजीनियर ने अपने दलाल के रूप में आशीष खरे को लगा रखा था।

 

दोनों गिरफ्तार: कारवाई करने आए लोकायुक्त निरीक्षक बीएम द्विवेदी ने बताया कि प्लान के अनुसार बब्लू कुशवाहा से 40 हजार रुपए दो-दो हजार के नोट एवं 10 हजार रुपए पांच-पांच हजार रुपए के नोट के रूप में कुल 50 हजार रुपए दिए गए थे। जैसे ही बब्लू रुपए देकर बाहर आया, लोकायुक्त टीम सब इंजीनियर के घर में घुस गई। यहां पर सब इंजीनियर ने यह रुपए आशीष खरे को दे दिए थे। टीम ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर हाथ धुलवाएं तो दोनों के हाथ रंगीन हो गए। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया हैं।