स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आज से घर बैठे प्राप्त कर सकेंगे खसरा-खतौनी की नकल

Sanket Shrivastava

Publish: Sep 11, 2019 08:15 AM | Updated: Sep 10, 2019 23:24 PM

Tikamgarh

आज से शुरू होगी सुविधा, ऑन लाइन हुआ भू-अभिलेख का रिकार्ड

टीकमगढ़. अब किसानों को खसरा, खतौनी, नक्श और बी-वन की नकल निकालने के लिए तहसीलों के चक्कर नहीं काटने होंगे। आज से यह सुविधा किसान घर बैठे मिलेगी।
इसके साथ ही किसान अपने एंड्रायड मोबाइल में भू-अभिलेख एंड्रायड एप्लीकेशन लोड कर, अपनी जमीन के विषय में सारी जानकारी ले सकते हैं। किसानों को यह सुविधा आज से मिलनी शुरू हो जाएगी।
खसरा, खतौन, नक्शा, बी-वन के लिए परेशान होने वाले किसानों के लिए प्रदेश सरकार आज बुधवार से एक नई योजना शुरू करने जा रही हैं। प्रदेश सरकार द्वारा आज से वेबजीआइएस साफ्टवेयर का उपयोग कर कहीं से भी अपनी जमीन की खसरा, खतौनी की नकल प्राप्त कर सकेंगे। इसके लिए अब उन्हें तहसील कार्यालयों एवं पटवारियों के चक्कर नहीं काटने होंगे।
एप के माध्यम से ले जानकारी
एडीआइओ पाठक ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा यह सुविधा शुरू करने के बाद से अब लोगों को बहुत राहत मिलेगी।
उन्होंने बताया कि यदि आपकी जमीन भोपाल, इंदौर या जिले के बाहर कहीं भी हैं, तो आप अपने एंड्रायड मोबाइल के माध्यम से घर बैठे ही इसकी जानकारी ले सकते हैं। वहीं कहीं की भी जमीन की नकल भी यहीं से निकाल सकते हैं।
नहीं लगेंगे टिकिट
वेबजीआइएस के माध्यम से निकलने वाली नकलों पर संबंधित तहसीलों के तहसीलदार के डिजीटल साइन होंगे। अब इन नकलों पर टिकिट की आवश्यकता नहीं होगी। तहसीलदारों के डिजीटल साइन से निकली यह नकलें हर जगह मान्य होंगी। एनआसी के एडीआइओ अविनाश पाठक ने बताया कि तहसीलदारों के स्थानांतरण होने पर तत्काल ही उनके डिजीटल साइन भी बदले जाएंगे।
ऐसे कराएं रजिस्ट्रेशन
इस एप का उपयोग करने के लिए किसानों को सबसे पहले अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इसके लिए किसानों को लेंडरिकार्ड एमपी की साइट पर जाना होगा।
यहां पर नागरिक सेवा में भू-अभिलेख की लिंक को क्लिक करने पर आयुक्त भू-अभिलेख एवं बंदोबस्त मप्र का पेज ओपन होगा।
इस पर पब्लिक यूजर विंडों पर क्लिक करने के बाद किसानों को पब्लिक यूजर रजिस्टर पर जाकर अपना पंजीयन करना होगा। एक बार पंजीयन हो जाने के बाद किसान कभी भी अपनी जमींन के सबंध में जानकारी ले सकते हैं।जिले में शुरू हुई सेवा
इस सेवा को आज से प्रारंभ करने के लिए भू-अभिलेख एवं बंदोबस्त विभाग के आयुक्त ने सभी कलेक्टरों को निर्देश दिए हैं। आज से टीकमगढ़ एवं निवाड़ी जिले की सभी 11 तहसीलों में यह काम शुरू हो जाएगा। आज से जिले के सभी लोक सेवा केन्द्रों के माध्यम से इसका विधिवत काम प्रारंभ किया जाएगा। लोक सेवा केन्द्र से नकल निकलवाने के लिए किसानों को शुल्क देनी होगी, जबकि अपने सिस्टम से नकल निकलवाने पर उन्हें यह सुविधा निशुल्क मिलेगी।