स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कॉलोनी के लोगों को निकलने में हो रही परेशानी, कॉलोनाइजर के साथ नपा भी नहीं कर रही मद्द

Akhilesh Lodhi

Publish: Sep 10, 2019 08:00 AM | Updated: Sep 09, 2019 20:50 PM

Tikamgarh

नगर के होमगार्ड कॉलोनी की रास्ता में नाली खुदी पड़ी हुई है। जिससे कॉलोनी के रहवासियों को निकलने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

टीकमगढ़..नगर के होमगार्ड कॉलोनी की रास्ता में नाली खुदी पड़ी हुई है। जिससे कॉलोनी के रहवासियों को निकलने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। कॉलोनी के लोग अपनी शिकायत लेकर कॉलोनाइजर के पास पहुंचे। इसके बाद नगर पालिका अध्यक्ष के निवास पहुंचे। लेकिन उन्हें कही से भी मद्द रहीं मिली।
होमगार्ड कॉलोनी निवासी रामसिंह बुंदेला, रवि राय, घनश्याम राय, अनंतराम खरे, राजेंद्र प्रजापति, समर्थ खरे, संजीव शर्मा, राधेलाल राजपूत ने बताया कि छतरपुर रोड़ पर जाने के लिए वर्षो से रास्ता बना हुआ है। लेकिन नगर के लोगों ने रास्तें को खोदकर डाल दिया है। जिसके कारण कॉलोनी के लोगों सहित छात्रों को स्कूल जाने के साथ अन्य कार्यो के लिए परेशान होना पड़ रहा है।
कॉलोनाइजर के पास गए थे रास्ता मांगने
स्थानीय लोगों ने बताया कि दिनेश राय, भरत राय और देवेंद्र पटैरिया द्वारा कॉलोनी बनाई गई थी। उन्होंने मनमाने तरीके से प्लाटों का पैसा लिया था। लेकिन कॉलोनी में न तो नालियां बनाई गई और न ही आने जाने के लिए रास्ता। ७ दिन पहले छतरपुर रोड़ किनारे बारिश का पानी निकासी के लिए नाली खोद डाली। जिसके कारण लोगों का आना जाना बंद हो गया है। कॉलोनी के लोग नाली निर्माण के लिए कॉलोनाइजरों के पास गए। इसके साथ ही नपाध्यक्ष के पास गए। लेकिन किसी ने कॉलोनी के लोगोंं की मद्द नहीं की। कॉलोनाइजरों का कहना था कि रुपए जोड़कर नाली का निर्माण कर लो।

७ दिन पहले खोदी गई थी। जब से छात्र और कॉलोनी के लोगों का निकलना मुश्किल हो गया है। मामले की शिकायतें भी पार्षद , कॉलोनाइजरों और नपाध्यक्ष से की गई। लेकिन मामले को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। कॉलोनाइजरों ने नाली निर्माण की मांग की है।
आशाराम राय
होमगार्ड कॉलोनी में स्कूली बच्चों सहित कामगार लोग कैद हो गए है। बाहर जाने का रास्त बंद हो गया है। कॉलोनी में रहने वाले छात्र ७ दिन से स्कूल न हीं जा पा रहे है। अगर नाली पार करके स्कूल जाते भी है तो चौटिल हो जाते है। जिसके कारण लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
पुष्पेंद्र तिवारी