स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

टैक्सी न दिलाने पर की थी महिला की गला घोंट कर हत्या

Anil Kumar Rawat

Publish: Oct 22, 2019 20:39 PM | Updated: Oct 22, 2019 20:39 PM

Tikamgarh

पुलिस ने किया अंधे कत्ल का खुलासा, आरोपी गिरफ्तार

टीकमगढ़/बल्देवगढ़. लगभग 10 दिन पूर्व हुई महिला की संदिग्ध मौत के मामले में पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर लिया हैं। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया हैं। मृतिका ने आरोपी को नई टैक्सी दिलाने का वादा किया था, लेकिन टैक्सी न दिलाने पर आरोपी ने उसकी गला घोंट कर हत्या कर दी थी।


मामले का खुलासा करते हुए थाना प्रभारी ब्रजेश कुमार ने बताया कि 10 अक्टूबर को अस्पताल मोहल्ले में निवास करने वाली मानकुंवर कड़ा 45 वर्ष की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। मामले की जानकारी होने पर पुलिस ने शव को कब्जे में कर उसका पीएम कराया था और मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी थी।


गला घोंटने से हुई मौत: पीएम के बाद आई रिपोर्ट में मृतिका की मौत का कारण गला घोटने से होना बताया गया था। पीएम रिपोर्ट के बाद पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया था। इस अंधे कत्ल की जांच कर रही पुलिस को मृतिका के परिजनों के मोहल्ले में ही निवास करने वाले बाबू खान के ऊपर शक जाहिर किया था। पुलिस ने बाबू खान को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो उसने पूरा राज खोल दिया।

 

टैक्सी को लेकर की थी हत्या: पुलिस ने बताया कि मृतिका के पति रामस्वरूप की पिछले वर्ष मृत्यु हो गई थी। इसके बाद से मृतिका का बाबू खान से ज्यादा संपर्क हो गया था। मृतिका ने बाबू खान को नई टैक्सी दिलाने का आश्वासन दिया था। लेकिन बाद में मृतिका ने टैक्सी दिलाने से मना कर दिया था और मकान बनाने को कहने ली थी।

 

12 अक्टूबर को जब मृतिका का बेटा और बहू काम से टीकमगढ़ आए थे, उसी समय रात्रि 11 बजे बाबू खान उसके घर पहुंचा। यहां पर टैक्सी दिलाने को लेकर दोनों के बीच झगड़ा हुआ और बाबू खान ने कपड़े से उसका गला घोंट कर हत्या कर दी थी। इसके बाद बाबू खान ने ही मृतिका के मोबाइल से उसके बेटे को सूचना दी कि उसकी मां की तबियत खराब हैं। वहीं बाबू खान, सिम निकाल कर मोबाइल भी अपने साथ ले गया था।


शमशान से लौटया था शव: मृतिका का पुत्र जब घर आया तो बाबू खान ने उसे विश्वास में लेकर मृतिका को दिखाने के लिए डॉक्टरों के पास ले गया। यहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद उसने परिजनों से सीधा उसका अंतिम संस्कार कराने की बात कहीं। बाबू खान ने पूरे मामले को दबाने के लिए यह किया। वहीं जब पुलिस को इसकी सूचना लगी तो पुलिस ने 13 अक्टूबर को शमशान पहुंच कर वहां से शव को जब्त किया था और पीएम कराया था। पुलिस ने आरोपी बाबू खान 29 वर्ष को गिरफ्तार कर लिया हैं। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त स्टोल(कपड़ा) एवं मृतिका का मोबाइल भी जब्त कर लिया हैं।