स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यूएस ओपन में एक और उलटफेर, तीसरी वरीय रोजर फेडरर को 78वीं रैंकिंग के खिलाड़ी ने दी मात

Mazkoor Alam

Publish: Sep 04, 2019 17:35 PM | Updated: Sep 04, 2019 17:36 PM

Tennis

यूएस ओपन टेनिस टूर्नामेंट से पुरुष और महिला नंबर वन खिलाड़ी Novac Djokovic और Naomi Osaka पहले ही बाहर हो चुके हैं।

न्यूयॉर्क : साल के अंतिम ग्रैंड स्लैम अमरीकी ओपन टेनिस में उलटफेर का दौर जारी है। नंबर एक पुरुष और महिला खिलाड़ी क्रमश: सर्बिया के नोवाक जोकोविच ( Novac Djokovic ) और जापान की नाओमी ओसाका ( Naomi Osaka ) के बाद तीसरे वरीय स्विटजरलैंड के रोजर फेडरर भी ( Roger Federer ) बुधवार को क्वार्टर फाइनल में हार कर बाहर टूर्नामेंट से बाहर हो गए। 78वीं रैंकिंग के ग्रिगोर दिमित्रोव ने पांच सेट तक चले संघर्षपूर्ण मुकाबले में फेडरर को 6-3, 4-6, 6-3, 4-6, 2-6 से मात दी। वहीं रूस के दानिल मेदवेदेव ने तीन बार के ग्रैंड स्लैम चैंपियन स्टेन वावरिंका को हराकर अपने पहले ग्रैंड स्लैम सेमीफाइनल में प्रवेश किया। पांचवीं सीड मेदवेदेव ने वावरिंका को 7-6 (8-6), 6-3, 3-6, 6-1 से शिकस्त दी। अब मेदवेदेव का सेमीफाइनल में बुल्गारियाई खिलाड़ी दिमित्रोव से मुकाबला होगा।

नौ साल बाद कोई रूसी पहुंचा है सेमीफाइनल में

23 साल के मेदवेदेव 2010 में नोवाक जोकोविच के बाद सबसे कम उम्र के यूएस ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचने वाले पहले खिलाड़ी बनें। इसके अलावा अमरीकी ओपन टेनिस में कोई रूसी खिलाड़ी नौ साल बाद सेमीफाइनल में पहुंचा है। मेदवेदेव से पहले 2010 में रूस के मिखाइल यूजनी ने सेमीफाइनल खेला था।

अनफिट होने के बावजूद जीते

अपने पहले ग्रैंड स्लैम सेमीफाइनल में पहुंच कर दानिल मेदवेदेव बेहद खुश हैं। हालांकि मैच के पहले सेट में ही उनके बाएं हाथ की मांसपेशी में खिंचाव होने लगा था। एक वक्त ऐसा लग रहा था कि वह बीच में ही मैच छोड़ सकते हैं। हालांकि मेडिकल टाइम आउट लेने के बाद उन्होंने खेलना जारी रखा। जीत के बाद उन्होंने बताया कि मैच के पहले वह फिट महसूस कर रहे थे। पहले सेट में उन्हें क्वाड्रिसेप्स खिंचाव महसूस हुआ। इतना तेज दर्द हो रहा था कि उन्हें लगा कि वह खेल जारी नहीं रख पाएंगे। इसके बाद उन्होंने एक मेडिकल टाइम आउट लिया और दर्द निवारक दवाइयां लेकर दोबारा कोर्ट पर उतरें। चौथे सेट में उनका दर्द कम हो गया और वह बेहतर खेलने लगे। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि इसके बावजूद उन्हें यकीन था कि वह सेमीफाइनल में पहुंच जाएंगे।