स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बेटे की धारदार हथियार से हत्या कर पिता पहुंच गया थाने, पुलिस को गुमराह करने बताई अलग कहानी, फिर...

Ram Prawesh Wishwakarma

Publish: Oct 30, 2019 19:05 PM | Updated: Oct 30, 2019 19:05 PM

Surajpur

Surajpur murder: पिता बोला- मैं पटवारी के पास जा रहा हूं, फिर बेटा जैसे ही आगे मोबाइल में बात करते हुए आगे चलने लगा, पिता ने पीछे से धारदार हथियार से कर दी हत्या

सूरजपुर. चांदनी थाना क्षेत्र के ग्राम बेगारीडाड़ में जमीन विवाद को लेकर एक पिता ने पुत्र को धारदार हथियार कटार से मारकर मौत के घाट (Father murdered son) उतार दिया। हत्या के बाद वह खुद ही थाने पहुंचा और पुलिस को गुमराह कर दिया।

उसने बताया कि उसके बेटे की किसी ने हत्या कर दी है। शक के आधार पर पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया।


सूरजपुर जिले के चांदनी पुलिस के मुताबिक ग्राम बेगारीडांड़ के केवल प्रसाद साहू अपने पुत्र अवधेश साहू के साथ 27 अक्टूबर को जमीन बंटवारे के लिए ग्राम बेगारीडांड से एक ही साइकिल पर बिहारपुर पटवारी के पास गए थे।

पटवारी के नहीं मिलने पर वापस आते समय महुली रोड बिहारपुर घाट के पास अपने पुत्र को छोड़कर पैदल नवाटोला पटवारी को पता करने जा रहा था और पुत्र वहीं मोबाइल पर बात करने लगा।

इसी दौरान पीछे से धारदार हथियार से अवधेश की हत्या (Son murder) कर दी। घटना की सूचना आरोपी ने ही थाने में दर्ज कराई। चांदनी पुलिस को मामले के प्रार्थी केवल प्रसाद द्वारा घटना के बारे में भिन्न-भिन्न बाते बताने पर संदेह हुआ। पुलिस ने संदेह के आधार पर प्रार्थी केवल प्रसाद साहू से कड़ाई से पूछताछ की तो घटना के बारे में उसने अपराध करना स्वीकार कर लिया।


जमीन विवाद पर उतारा मौत के घाट
आरोपी केवल प्रसाद साहू ने पुलिस को बताया कि जमीन, मकान आपसी बंटवारे के विवाद एवं पुत्र अवधेश साहू द्वारा परेशान करने पर सुनियोजित तरीके से बिहारपुर मोड़ पर साइकिल से उतरने के पश्चात अवधेश आगे-आगे मोबाइल से बात करते चलने लगा। इसी दौरान उसने पीछे से कटार से मारकर पुत्र की हत्या (Son murder) कर दी।

आरोपी के मेमोरेण्डम कथन के आधार पर घटना में प्रयुक्त कटार को घटना स्थल के पास मेढ़ से जब्त कर आरोपी केवल प्रसाद साहू पिता शंखलाल साहू उम्र 40 वर्ष को गिरफ्तार किया गया।


कार्रवाई में ये रहे शामिल
कत्ल की गुत्थी सुलझाने में एसडीओपी ओडग़ी मंजूलता बाज के नेतृत्व में एसआई शिवप्रसाद सिंह, एएसआई विदवाराम, प्रधान आरक्षक रामलगन सिंह, मान सिंह मरकाम, आरक्षक गणेश राम, हरिलाल पैंकरा, उदय सिंह व राम सिंह शामिल रहे।

सूरजपुर जिले की क्राइम की खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- Surajpur Crime

[MORE_ADVERTISE1]