स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ट्रेलर की टक्कर से कार समेत नदी में जा गिरा युवक, रपटा पर ट्रेलर फंसने से 18 घंटे तक लगी रही वाहनों की लाइन

Ram Prawesh Wishwakarma

Publish: Jul 28, 2019 20:41 PM | Updated: Jul 28, 2019 20:41 PM

Surajpur

Surajpur accident: अंबिकापुर-प्रतापपुर मार्ग पर हुए हादसे में कार सवार को आईं गंभीर चोटें, काफी मशक्कत के बाद बाहर निकाली गई कार

केरता (Surajpur). शनिवार की शाम महान-2 से कोयला लोड लेकर भटगांव जा रहा ट्रेलर महान नदी के रपटा पर अचानक बैक हो गया, इससे वह पीछे से आ रहे दूसरे ट्रेलर जा से टकराया, फिर यह ट्रेलर अनियंत्रित होकर पीछे से आ रही कार से टकरा गया। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि कार (Car accident) रपटा से नीचे सीधे उफनती नदी में जा गिरी।

हादसे में कार चालक को गंभीर चोटें आईं। बाद में काफी मशक्कत के बाद कार (Car fell in river) को बाहर निकाला गया जबकि ट्रेलर रपटा पर ही फंस गया। इससे सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी लाइन लग गई। मार्ग पर करीब 18 घंटे तक जाम लगा रहा।

 

Car fell into the river

अंबिकापुर-प्रतापपुर मार्ग पर ग्राम केरता से पहले 2 वर्ष पूर्व महान नदी पर बना पुल बह गया था। इसके बाद यहां रपटा बनाया गया था। इसी मार्ग से कोयला लोड ट्रक, ट्राला व अन्य वाहन आवागमन करते हैं। शनिवार की शाम एक ट्रेलर कोयला लेकर रपटा पार कर रहा था। इसी दौरान वह घाट पर लुढककर पीछे आ रहे दूसरे ट्रेलर से टकरा गया।

इससे ट्रेलर पीछे से आ रही कार से जा टकराया। ट्रेलर की टक्कर से कार (Car accident) पानी से भरी नदी में जा गिरी। हादसे में कार चालक जगरनाथपुर निवासी 35 वर्षीय विजय गुप्ता पिता उमेश गुप्ता को काफी चोट आई, इस घटना से मौके पर अफरातफरी मच गई। कार नदी में डूबते जा रही थी।

इसकी सूचना मिलने पर तहसीलदार ओपी सिंह, पटवारी महेंद्र गुप्ता व खडग़वां पुलिस मौके पर पहुंची। स्थानीय ग्रामीणों की मदद से कार चालक को काफी मशक्कत के बाद बाहर निकालकर पंपापुर अस्पताल ले जाया गया। यहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे अंबिकापुर रेफर कर दिया गया।


दोनों ओर लगा लंबा जाम
इधर बैक हुए ट्रेलर के रपटा पर फंस जाने की वजह से जाम लग गया और दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई। रविवार की देर शाम तक रपटा पर जाम (Road jammed) लगा ही हुआ था, इससे लोगों को आवागमन में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा।