स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Doctor expose PM : फांसी लगाने से पहले पुलिसकर्मियों ने युवक से बर्बरतापूर्वक की थी मारपीट, पीएम के बाद डॉक्टरों ने की पुष्टि

Ram Prawesh Wishwakarma

Publish: Jun 27, 2019 19:59 PM | Updated: Jun 27, 2019 19:59 PM

Surajpur

हवालात में युवक की मौत मामला, लॉकअप के गेट में लगाई थी फांसी (Young man commits suicide), एसपी ने थाना प्रभारी समेत 10 पुलिसकर्मियों को किया था सस्पेंड

प्रतापपुर. सूरजपुर जिले के चंदौरा पुलिस द्वारा हिरासत में लिए गए युवक ने हवालात के भीतर गेट में फांसी लगाकर आत्महत्या (Young man commits suicide) कर ली थी। इस मामले में एसपी ने थाना प्रभारी समेत 10 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था। वहीं आईजी ने मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए थे।

इधर गुरुवार को 3 डॉक्टरों की टीम द्वारा युवक के शव का पीएम किया गया। इसमें डॉक्टरों ने बताया कि युवक के शरीर पर गंभीर चोट के निशान हैं। इससे साफ पता चलता है कि पुलिसकर्मियों द्वारा युवक से बर्बरतापूर्वक मारपीट (Brutally beaten) की गई थी। इधर युवक के परिजनों ने पत्नी, ससुर व पुलिसकर्मियों पर हत्या का आरोप लगाया है।


गौरतलब है कि बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के ग्राम कोदौरा निवासी कृष्णा सारथी पिता जयनाथ 30 वर्ष अपने ससुराल चंदौरा थानांतर्गत ग्राम डोमहत आया था। यहां पत्नी से उसका विवाद हुआ तो कोटवार ससुर ने थाने में शिकायत की थी। इस पर बुधवार की सुबह पुलिस युवक को पकड़कर थाने ले आई। दोपहर करीब 12 बजे युवक ने हवालात के गेट में फांसी लगाकर आत्महत्या (Young man commits suicide) कर ली थी।

आत्महत्या (Commits suicide) के लिए उसने चादर का सहारा लिया था। इस मामले का पता चलते ही सूरजपुर एसपी जीएस जायसवाल ने तत्काल कार्रवाई करते हुए थाना प्रभारी आरडी सिंह समेत 10 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया था। इधर आईजी भी थाने पहुंचे थे। उन्होंने मामले में मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं।


3 डॉक्टरों की टीम ने किया पीएम
पुलिस ने युवक के शव को कब्जे में लेकर प्रतापपुर अस्पताल स्थित मरच्यूरी में रखवाया था। गुरुवार को 3 डॉक्टरों डॉ. राजेश श्रेष्ठ, डॉ. विजय सिंह व डॉ. अखिलेश विश्वकर्मा की टीम ने मजिस्ट्रेट अजय खाखा की उपस्थिति में शव का पीएम (Postmortem) किया। इस दौरान मृतक के परिजन व सुरक्षा की दृष्टि से काफी संख्या में पुलिसकर्मी मौजूद थे।


शरीर पर गंभीर चोट के निशान
करीब ढाई घंटे तक चले पीएम के बाद डॉक्टरों ने बताया कि मृतक के शरीर पर गंभीर चोट के निशान मिले हैं। वहीं उसके कुल्हे पर लंबी मारपीट के निशान बने हैं। उन्होंने बताया कि युवक की मौत दम घुटने से हुई है। इधर मामले में जिम्मेदार अधिकारी कुछ भी बताने को तैयार नहीं हैं। उनका कहना है कि जांच में पूरी बातें स्पष्ट हो जाएंगीं। (Crime in Surajpur)


परिजनों ने हत्या का लगाया आरोप
युवक के परिजनों ने बेटे की हत्या का आरोप उसके ससुर, पत्नी व पुलिसकर्मियों पर लगाया है। उनका कहना है कि लॉकअप में ससुर, पत्नी व पुलिसकर्मियों ने बेटे के साथ जमकर मारपीट की है। उन्होंने मामले की बारीकी से जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इधर पीएम पश्चात पुलिस (Police) ने शव उसके गृहग्राम भिजवा दिया।

 

सूरजपुर जिले की क्राइम से संबंधित खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- Crime in surajpur

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..