स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दुनिया में आते ही बच्चे की चली गई जान, आंसू थमे भी नहीं थे कि मां ने भी तोड़ दिया दम

Ram Prawesh Wishwakarma

Publish: Jul 12, 2019 21:31 PM | Updated: Jul 12, 2019 21:31 PM

Surajpur

Mother-newborn death : नवजात और प्रसूता की मौत के बाद परिजनों ने डॉक्टरों पर लगाया लापरवाही का आरोप

सूरजपुर. एक तरफ अस्पतालों में जहां सुरक्षित प्रसव का दावा किया जा रहा है, वहीं शुक्रवार को एक गर्भवती व नवजात की मौत (Mother-newborn death) हो जाने के बाद परिजनों ने चिकित्सक पर लापरवाही का आरोप लगाया है। हालांकि इसकी शिकायत नहीं की गई है।


सूरजपुर जिले के ग्राम पसला निवासी रनसाय की पुत्री सावित्री को बुधवार की शाम को प्रसव पीड़ा की शिकायत पर यहां जिला अस्पताल में प्रसव के लिए लाया गया था। जहां देर रात सावित्री ने एक बच्चे को जन्म दिया। लेकिन बच्चे की मौत हो गई। इसके कुछ देर बाद सावित्री की भी जान (Mother-newborn death) चली गई।

 

ये भी पढ़ें : मौसी के घर छोडऩे के बहाने बंधक बनाकर कई बार किया दुष्कर्म, जबरन करा रहे थे धर्म परिवर्तन, फिर...

 

परिजनों का आरोप है कि अस्पताल (Hospital) प्रबंधन की लापरवाही के कारण जच्चा-बच्चा दोनों की मौत हुई है। शुक्रवार की सुबह सावित्री के पिता रनसाय इस आरोप को लेकर घंटों थाना परिसर में बैठे रहे और आने जाने वालों को अपनी पीड़ा तथा अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही की शिकायत करते रहे लेकिन उन्होंने इसकी लिखित या मौखिक शिकायत थाने में दर्ज नहीं कराई है।

 

ये भी पढ़ें : पत्नी कहती थी मेरे रहते आप किसी और औरत के पास क्यों जाते हो, सुनकर पति को आ गया गुस्सा, फिर कर दिया कत्ल

 

वैसे यहां जिला अस्पताल में इस तरह की शिकायतें (Mother-newborn death) आए दिन सामने आती रही हंै। इसमें चिकित्सक मानवीय संवेदनाओं को दरकिनार कर मरीज को भगवान भरोसे छोड़ देते हैं। इससे इस तरह की घटनाएं सामने आती हैं।

 

सूरजपुर जिले की खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- surajpur News