स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

फर्जी फेसबुक आईडी से पिता-पुत्र करते थे आपत्तिजनक पोस्ट, पुलिस ने किया गिरफ्तार तो बताई इसके पीछे की वजह

Ram Prawesh Wishwakarma

Publish: Oct 15, 2019 16:45 PM | Updated: Oct 15, 2019 16:45 PM

Surajpur

Facebook crime: शिकायत के बाद साइबर सेल की जांच में पिता-पुत्र का नाम आया सामने, पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल

बिश्रामपुर. जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के पूर्व नेता के नाम पर फर्जी फेसबुक (Facebook crime) आईडी बनाकर आपत्तिजनक पोस्ट करने के मामले में पुलिस ने पिता-पुत्र को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। मामला तब खुला जब युवा नेता के परिचितों ने उन्हें इस बारे में बताया।

फिर इसकी शिकायत जकांछ नेता ने थाने में दर्ज कराई थी। पुलिस की पूछताछ में पिता-पुत्र ने बताया कि जकांछ के पूर्व नेता से उनकी पुरानी रंजिश थी। उसे बदनाम करने की नीयत से वे ऐसे पोस्ट कर रहे थे।

ये भी पढ़ें: फेसबुक पर गैरमर्द के साथ पत्नी की फोटो देख पति को आ गया गुस्सा, बोला- मुझे तुमसे तलाक चाहिए, जब हुआ चौंकाने वाला खुलासा तो...


सूरजपुर जिले के जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के पूर्व नेता व बिश्रामपुर निवासी विकास सिंह सोनू के नाम से दो मोबाइल नंबर 9340592404 व 6265214097 से फर्जी फेसबुक (Facebook crime) अकाउंट बनाकर लगातार गाली-गलौज सहित अन्य आपत्तिजनक पोस्ट किए जा रहे थे। युवा नेता द्वारा इसकी लिखित शिकायत पुलिस के समक्ष की गई थी।

साइबर सेल द्वारा मामले की जांच करने पर पता चला कि उक्त फर्जी फेसबुक अकाउंट (Fake facebook ID) वनबी कॉलोनी कॉलोनी बिश्रामपुर निवासी 50 वर्षीय रामनरेश वर्मा व उसके पुत्र 26 वर्षीय रवि वर्मा द्वारा बनाकर आपत्तिजनक पोस्ट किए जा रहे थे। इस पर बिश्रामपुर पुलिस ने दोनों पिता-पुत्र को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उन्होंने अपना जुर्म कबूल लिया।

ये भी पढ़ें : फेसबुक पर युवक से हुई दोस्ती और घर से भाग निकली युवती, मंदिर में रचाई शादी, फिर युवती के साथ हुआ ये...


बदनाम करने की नीयत से कर रहे थे ऐसा
विकास सिंह से पुरानी रंजिश के मद्देनजर पिता-पुत्र उसे बदनाम करने की नीयत से ऐसा कृत्य कर रहे थे। मामले में पुलिस ने आरोपी पिता-पुत्र को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ धारा 294, 507 व आईटी एक्ट के तहत कार्रवाई उन्हें न्यायालय में पेश किया।

यहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। कार्रवाई में थाना प्रभारी जयनगर दीपक पासवान, बिश्रामपुर थाना प्रभारी कपिलदेव पांडेय व अन्य पुलिसकर्मी शामिल रहे।

सूरजपुर जिले की क्राइम की खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- Surajpur Crime