स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

27 हाथियों का दल पहुंचा गांव में तो मच गया हड़कंप, 2 घर तोड़े और खा गए सारा अनाज, दहशत में उड़ी लोगों की नींद

Ram Prawesh Wishwakarma

Publish: Sep 01, 2019 21:33 PM | Updated: Sep 01, 2019 21:34 PM

Surajpur

Elephants panic: खेत में लगी फसल सहित घर में रखा धान व चावल चट कर गए हाथी, रतजगा करने को विवश हैं ग्रामीण

प्रतापपुर. सूरजपुर जिले के प्रतापपुर ब्लॉक के ग्राम गोविन्दपुर में 27 हाथियों के दल (Elephants panic) ने रात में गांव में जमकर उत्पात मचाया। हाथियों ने 2 ग्रामीणों के जहां घर तोड़ दिए, वहीं कई की खेत में लगी फसल व घर में रखा धान-चावल चट कर गए। हाथियों के डर से ग्रामीणों ने रतजगा किया। इतनी संख्या में हाथियों के क्षेत्र में विचरण करने से ग्रामीण दहशत में हैं।


प्रतापपुर ब्लॉक के ग्राम गोविंदपुर में 27 हाथी (elephants panic) सोनसाय पिता लखन का दो क्विंटल चावल व १० क्विंटल धान चट कर गए। गोविंद राम पिता कईला की मक्के व धान की चार एकड़ फसल को नुकसान पहुंचाया। देवशरण पिता बंधुराम का ३ क्विंटल धान, १ क्विंटल चावल व खेत में लगे दो पंप को नुकसान पहुंचाया।

हाथियों के उत्पात से ग्रामीण पूरी रात रतजगा करते रहे। इसकी सूचना मिलने पर जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि शिवभजन मरावी ने तत्काल वन विभाग को सूचना दी और खुद भी अन्य लोगों के साथ मौके पर पहुंचे।

कुछ देर बाद वन अमला भी गांव में पहुंचा। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि वन विभाग की लापरवाही से गज आतंक से राहत नहीं मिल पा रही है।


मुख्यालय में नहीं रहते हैं रेंजर
बताया जा रहा है कि घुई रेंजर मुख्यालय में नहीं रहते हैं। हाथियों (Elephants panic) से रक्षा खुद करनी पड़ रही है। जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि ने वन अमले से प्रभावितों का प्रकरण बनवाकर मुआवजा राशि जल्द देने को कहा। उन्होंने रेंजर से भी चर्चा की।


नुकसान का आंकलन कर करेंगे भरपाई
रेंजर ने कहा कि जो भी नुकसान हुआ है, उसका आकलन कर ग्रामीणों को मुआवजा दिया जाएगा। इस दौरान सुरेश केराम, जनपद सदस्य शिवकुमार, जयपाल, रामसागर, रामजीत, रामाधीन व अन्य लोग उपस्थित थे।