स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एसडीएम स्कूल में पहुंचे तो बच्चों को पढ़ा रही थी आया, जब सामने आई ये हकीकत तो ऑफिसर भी रह गए हैरान...

Ram Prawesh Wishwakarma

Publish: Sep 14, 2019 15:13 PM | Updated: Sep 14, 2019 15:13 PM

Surajpur

Chhattisgarh school: एसडीएम ने गंभीर लापरवाही देख जताई कड़ी नाराजगी, स्कूल में पदस्थ सभी शिक्षक थे नदारद, शिक्षिका हाजिरी लगाकर चली गई थी घर

अंबिकापुर/भैयाथान. एक तरफ जहां कुछ सरकारी स्कूलों (Chhattisgarh school) में ऐसे भी शिक्षक हैं जो नवाचार के माध्यम से बच्चों में शिक्षा का अलख जगाकर प्रदेश का नाम रोशन कर रहे हैं, वहीं कुछ शिक्षक स्कूलों में हाजिरी लगाकर नदारद हो जा रहे हैं। इससे बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है।

कुछ ऐसा ही मामला शुक्रवार को सूरजपुर जिले के भैयाथान एसडीएम प्रकाश सिंह राजपूत के औचक निरीक्षण में सामने आया। दरअसल एसडीएम (SDM) जब प्राथमिक पाठशाला (Primary school) भटगांव कॉलरी पहुंचे तो यहां चारों शिक्षक नदारद मिले। एसडीएम जब क्लास रूम में पहुंचे तो यहां एक महिला बच्चों को पढ़ाते मिली।

जब एसडीएम ने उससे पूछताछ की तो वह महिला शिक्षिका की केयर टेकर मिली, जिसे महिला शिक्षिका स्कूल भेजकर खुद घर पर थी। इस घोर लापरवाही पर एसडीएम ने कड़ी नाराजगी जताई व नदारद शिक्षकों पर कार्रवाई की बात कही।

एसडीएम स्कूल में पहुंचे तो बच्चों को पढ़ा रही थी आया, जब सामने आई ये हकीकत तो ऑफिसर भी रह गए हैरान...

शुक्रवार को भैयाथान एसडीएम प्रकाश सिंह राजपूत मतदाता सूची कार्य का निरीक्षण करने नगर पंचायत प्राथमिक पाठशाला भटगांव कॉलरी पहुंचे। यहां निरीक्षण के दौरान अधिकांश बच्चे खेलते नजर आए। वहीं स्कूल में पदस्थ प्रधानपाठक सहित 4 शिक्षक अनुपस्थिति मिले।

प्रधानपाठक सुकुल प्रसाद, सहायक शिक्षक एलबी कौशिल्या सिंह व गायत्री मिश्रा का उपस्थिति पंजी में हस्ताक्षर नहीं मिला, साथ ही किसी भी प्रकार का अवकाश आवेदन पत्र भी मौके पर उपलब्ध नहीं था।

वहीं एक शिक्षिका तनुजा एक्का का हस्ताक्षर उपस्थिति पंजी में मिला। इसके बाद एसडीएम जब क्लास रूम में गए तो एक महिला बच्चों को पढ़ाते हुए मिली, जब एसडीएम ने उससे पूछताछ की तो वह हड़बड़ाने लगी।

फिर उसने जो जानकारी दी उसे सुनकर एसडीएम भी चौंक गए। दरअसल वह शिक्षिका तनुजा एक्का की केयरटेकर प्रतिमा विश्वकर्मा निकली, जिसे शिक्षिका स्कूल भेजकर अपने घर में थी। शिक्षिका की जगह केयरटेकर ही बच्चों को पढ़ा रही थी।

एसडीएम स्कूल में पहुंचे तो बच्चों को पढ़ा रही थी आया, जब सामने आई ये हकीकत तो ऑफिसर भी रह गए हैरान...

शिक्षिका को स्कूल बुलाकर लगाई फटकार
एसडीएम ने फोन कर तत्काल शिक्षिका तनुजा एक्का को स्कूल बुलाया और फटकार लगाई। एसडीएम ने शिक्षकों के नदारद रहने व शिक्षिका के बदले केयरटेकर द्वारा बच्चों को पढ़ाए जाने को घोर लापरवाही बताते हुए नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि मामले में शिक्षकों पर कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने मौके पर ही निरीक्षण का पंचनामा तैयार किया। इस दौरान नायब तहसीलदार अमरेंद्र सिंह, मास्टर ट्रेनर निर्वाचन नसीम अंसारी व स्थानीय ग्रामीण उपस्थित थे।


लापरवाही नहीं की जाएगी बर्दाश्त
स्कूल में बड़ी लापरवाही मिली है। शिक्षक नदारद थे और महिला शिक्षिका की जगह केयरटेकर बच्चों को पढ़ाती मिली। बच्चों के भविष्य का सवाल है, इस तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कार्रवाई हेतु जांच प्रतिवेदन कलक्टर को प्रेषित किया गया है।
प्रकाश सिंह राजपूत, एसडीएम, भैयाथान