स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बाइक से गिरते ही पहले नाक पर मुक्का मारा, फिर पत्थर से चेहरे पर कई वार कर उतार दिया मौत के घाट

Ram Prawesh Wishwakarma

Publish: Jul 27, 2019 19:33 PM | Updated: Jul 27, 2019 19:33 PM

Surajpur

Blind murder: युवक के अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझी, 16 वर्षीय किशोर ने सप्ताहभर पूर्व दिया था जघन्य वारदात को अंजाम

प्रतापपुर. प्रतापपुर पुलिस ने एक युवक के अंधे कत्ल की गुत्थी (Blind murder) सुलझा ली है। मामले में पुलिस ने मृतक के साथी 16 वर्षीय अपचारी बालक को पकड़कर बाल संप्रेक्षण गृह भेज दिया है। पुरानी रंजिश को लेकर अपचारी बालक ने पत्थर से सिर व चेहरे पर कई वार कर युवक को मौत के घाट उतार दिया था। घटना के दो दिन बाद युवक का शव जंगल में पड़ा मिला था।


गौरतलब है कि सूरजपुर जिले के चंदौरा थाना अंतर्गत घाट पेंडारी के जंगल में 22 जुलाई को एक युवक की लाश मिली थी, जिसकी शिनाख्त ग्राम मजूरगोड़ी निवासी 21 वर्षीय बिहारी गोंड़ के रूप में हुई थी। पीएम रिपोर्ट में हत्या (Blind murder) की पुष्टि होने पर पुलिस अज्ञात के खिलाफ धारा 302 का अपराध दर्ज कर विवेचना में जुटी थी।

 

यह भी पढ़ें : युवक की हत्या कर जंगल में फेंक दी लाश, पुलिस पहुंची तो इस तरह के थे निशान, देखते ही समझ में आग गई बात

 

विवेचना के दौरान पुलिस को मृतक के कॉल डिटेल व सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पता चला कि मृतक एक अन्य के साथ बाइक से भैंसामुंडा की तरफ से आ रहा था। पुलिस ने उस शख्स की पहचान ग्राम पकनी निवासी 16 वर्षीय किशोर के रूप में की। पुलिस ने उसे पकड़कर पूछताछ की तो उसने युवक की हत्या (Murder) करने का जुर्म कबूल लिया।

 

Young man murder

इस पर पुलिस ने कार्रवाई कर उसे बाल संप्रेक्षण गृह अंबिकापुर भेज दिया। अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में चंदौरा थाना प्रभारी एनके त्रिपाठी, एएसआई जीपी यादव, प्रधान आरक्षक क्षेत्रपाल सिंह, आरक्षक परमेश्वर पैंकरा, इंद्रजीत सिंह, मोहन विश्वकर्मा, नरेंद्र निकुंज, सुरेंद्र सिंह, रविशंकर साहू व शिवनाथ राजवाड़े सक्रिय रहे।

 

यह भी पढ़ें : चाचा के घर जाने के लिए निकले भतीजे की संदिग्ध अवस्था में मिली लाश, हत्या कर फेंकने की आशंका


दोनों शराब पीकर वापस आ रहे थे
पुलिस ने बताया कि घटना दिनांक को बिहारी गोंड़ बाइक से प्रतापपुर बस स्टैंड गया था। यहां से वह अपचारी बालक के साथ भैसामुंडा की ओर से ग्राम परमेश्वरपुर होते घाट पेंडारी पहुंचा, फिर दोनों महुआ शराब का सेवन कर वापस लौट रहे थे। इसी बीच घाट पेंडारी के पास ही बाइक अनियंत्रित हो गई, इससे दोनों गिर गए।

इसी दौरान अपचारी बालक आवेश में आ गया और पुरानी रंजिश को लेकर बिहारी के नाक में मुक्का मार दिया जिससे वह गिर गया, इसके बाद अपचारी बालक ने पत्थर से उसके सिर व चेहरे में कई वार कर हत्या कर दी।

 

सूरजपुर जिले की क्राइम से संबंधित खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- Crime in surajpur