स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भारी बारिश के कारण कई गावं हुए जलमग्न, मुख्यालय से संपर्क पूरी तरह कटा

Karunakant Chaubey

Publish: Aug 07, 2019 19:23 PM | Updated: Aug 07, 2019 19:23 PM

Sukma

Heavy Rain in Chhattisgarh: लगातार भारी बारिश के कारण जिले के कई ग्रामीण इलाकों का जिला मुख्यालय से संपर्क पूरी तरह से टूट गया है

सुकमा. Heavy Rain in Chhattisgarh: दो दिनों से से हो रही लगातार बारिश से जन जीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है। जिले के ग्रामीण इलाकों में बहने वाले नदी-नाले उफान पर आ गए हैं और कई ग्रामीण इलाकों का मुख्यालय से सड़क संपर्क पूरी तरह से टूट चूका है।

सुकमा पुलिस ने लौटाई गुजरात के एक परिवार की खुशियां, पढ़िए भावुक कर देने वाली सच्ची कहानी

जिला मुख्यालय में भारी बारिश के कारण स्कूल कालेज और कई कार्यालय जलमग्न हो गए हैं। यहाँ तक की नेशनल हाईवे भी पानी में पूरी तरह डूबा हुआ है।कोंटा को तेलंगाना और आंध्र प्रदेश से जोड़ने वाली सड़क पर 4 फीट तक पानी भर गया है। भारी बारिश और जलभराव के कारण बस्तर पहुंचने वाले यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

छत्तीसगढ़ में किन्नरों ने अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर कुछ यूं दी अपनी प्रतिक्रिया

भारी बारिश से जिले के गादीरास से सटकर बहने वाली मलगेर नदी भी उफान पर आ गई है, जिसके चलते उस इलाके के दो दर्जन से ज्यादा गांवों का सड़क संपर्क टूट गया है। हालांकि किसी तरह की अप्रिय घटना न हो इसके लिए जिला प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतेजाम कर रखे हैं।

जानिये आखिर क्यों कांग्रेस विधायक ने स्कूल का तोड़ दिया ताला, खुल गयी सरकारी तंत्र की पोल

आपको बता दें की लगतार हो रही भरी बारिश के कारण इलाके की नदी नाले उफान पर हैं। जिसके कारण जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। लोग सुरक्षित ठिकाने तलाश रहे है।

 

तेज बहाव में बह गयी थी महतारी एक्सप्रेस

मंगलवार को मरीज को घर छोड़कर वापस आते समय स्वास्थ्य विभाग की 102 महतारी एक्सप्रेस वाहन दुर्घटना की शिकार हो गई। वाहन के कर्मचारी मरीज कवासी जोगी को पिलवाया गांव छोड़कर वापस लौट रहे थे। मालामपेंटा नाला के बढ़े हुए जलस्तर नजरअंदाज करते हुए ड्राइवर ने वाहन को नाले से पार करने की कोशिश की जिसके कारण बहाव के साथ वह भी बाह गयी। हालांकि वाहन में मौजूद ड्राइवर और EMT(आपातकालीन चिकित्सा तकनीशियन) समय रहते वाहन से सुरक्षित बाहर निकल आए थे।