स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सुकमा पुलिस ने लौटाई गुजरात के एक परिवार की खुशियां, पढ़िए भावुक कर देने वाली सच्ची कहानी

Karunakant Chaubey

Publish: Aug 06, 2019 20:31 PM | Updated: Aug 06, 2019 20:51 PM

Sukma

Chhattisgarh Police News: सुकमा पुलिस (Sukma Police) की तारीफ छत्तीसगढ़ से लेकर गुजरात तक हो रही है

सुकमा. Chhattisgarh Police News: ढाई साल पहले एक बुजुर्ग अपने परिवार से बिछड़े गया था। जिसे सुकमा पुलिस (Sukma Police) ने उसके परिवार से मिलवाया है। पुलिस के इस कदम की तारीफ छत्तीसगढ़ से लेकर गुजरात (Gujrat) तक हो रही है। थाना प्रभारी एकेश्वर नाग ने बताया कि पिछले शनिवार को यातायात पुलिस को पेट्रोलिंग के दौरान सुकमा बस स्टैंड पर संदिग्ध हालत में बुजुर्ग व्यक्ति मिला। जिसके बाद पुलिस ने उन्हें उनके परिवारवालों से मिलाने की कोशिश शुरू की।

छत्तीसगढ़ में किन्नरों ने अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर कुछ यूं दी अपनी प्रतिक्रिया

बुजुर्ग ने पुलिस को अपने नाम सोमाभाई सोलंकी के अलावा और कोई जानकारी नहीं दी। बाद में उसे पूछताछ के लिए थाने लाया गया। पूछताछ के दौरान बुजुर्ग व्यक्ति ने गुजरात के थाना राजगढ़ जिला पंचमहल का जिक्र किया। जिसके बाद ये जानकारी सीसीटीएनएस शाखा प्रभारी उमेश वर्मा को दी गई और हेल्प डेस्क पर सोमाभाई सोलंकी का नाम से सर्च किया गया।

ढाई साल से ढूंढ़ रहे थे परिवारवाले

सर्च करने के बाद मिली जानकारी के अनुसार 15 जनवरी 2017 को बुजुर्ग के गायब होने की जानकारी गुजरात के जिला पंचमहल के राजगढ़ थाना में दर्ज कराया गया था। इसी सुचना के आधार पर संबंधित थाना के प्रभारी से संपर्क करने के बाद बुजुर्ग व्यक्ति के परिवार की जानकारी मिली।

छत्तीसगढ़ विधानसभा सचिवालय सहायक ग्रेड III के लिए एडमिट कार्ड 2019 जारी, ऐसे करें डाउनलोड

मानसिक रूप से बीमार है सोमाभाई सोलंकी

बुर्जुग के भाई अर्जुन सोलंकी ने बताया कि सोमाभाई सोलंकी की मानसिक स्थिति ठीक नहीं हैं। जनवरी 2017 में वो बिना किसी को बताए ही गायब हो गए थे। इसके बाद परिवारवालों ने काफी खोज बीन की लेकिन कोई जानकारी नहीं मिली। इसके बाद थक हार कर उन्होंने 15 जनवरी 2017 को जिला पंचमहल के राजगढ़ (Gujrat) थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी।

जानिये आखिर क्यों कांग्रेस विधायक ने स्कूल का तोड़ दिया ताला, खुल गयी सरकारी तंत्र की पोल

चारो तरफ हो रही है सुकमा पुलिस की वाहवाही

बुजुर्ग सोमाभाई सोलंकी को ढूंढने के लिए दर दर की ठोकरे खा रहा पूरा परिवार अपने मुखिया के खो जाने से बहुत परेशान था। सोमाभाई सोलंकी की दो लड़कियां और एक लड़का है। परिवार ने ढाई साल बाद उनको उनके पिता से मिलवाने के लिए सुकमा पुलिस (Sukma Police) का आभार जताया है।