स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

RED ALERT in Chhattisgarh : छत्तीसगढ़ के कई जिलों का देश से टूट गया संपर्क, बारिश ने तोड़ा 10 साल का रिकॉर्ड

Karunakant Chaubey

Publish: Aug 08, 2019 17:18 PM | Updated: Aug 08, 2019 17:18 PM

Sukma

RED ALERT in Chhattisgarh : इस लगातार हो रही बारिश का ही असर है कि यहां के सुकमा, बीजापुर, दंतेवाड़ा, बस्तर और नारायणपुर जिले में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं

सुकमा. Red Alert in Chhattisgarh:बस्तर में बारिश ने पिछले 10 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। अगस्त माह में ही बस्तर में अब तक कुल बारिश 1144 मिमि बारिश हो चुकी है। जबकि यह आंकड़ा बस्तर में पूरे मॉनसून का होता था। इस लगातार हो रही बारिश का ही असर है कि यहां के सुकमा, बीजापुर, दंतेवाड़ा, बस्तर और नारायणपुर जिले में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं।

छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस ने नगर निकाय चुनाव के लिए जारी किया लोकलुभावन घोषणा पत्र

इनमे सबसे ज्यादा सुकमा और बीजापुर के हालात खराब हैं। सुकमा में शबरी नदी खरते के उपर पहुंच गई है और इस बैक वाटर एनएच 30 तक आने की वजह से यहां यातायात पूरी तरह से प्रभावित हो गया है। वहीं बीजापुर में ङ्क्षमगाचल और तेलंगाना की तरफ से अन्य नदी चिंतावागु और मलंगेर नदी की उफान की वजह से इसकी दोनो ओर से संपर्क टूट गया है। अब आलम यह है कि इन दोनो ही जिले के संपर्क देश के अन्य हिस्सों से कट गए हैं।


भारी बारिश के कारण उफनाई नदी में बह गया युवक, तलाश जारी

बीजापुर में भी बारिश ने लोगों की कमर तोड़ दी है। यहां बारिश की वजह से नदी नाले उफान पर हैं। नगर व आसपास के ग्रामीण अंचलों में कई घर बाढ़ की चपेट में आने से ढह गए। वहीं बीजापुर-जगदलपुर एनएच 63 बारिश के कारण अवरुद्ध हो गया हैं। बांगापाल के पास तुमनार नदी का पानी पुल के ऊपर बह रहा है जिसके कारण आवागमन पूरी तरह से बंद हो गया है। जानकारी के बाद से गीदम पुलिस मौके पर पहुंची और एतिहात के तौर पर आवागमन बंद करवा कर लोगो को समझाइस देती रही। बीजापुर मार्ग में जाने वाली गाडियो को गीदम बस स्टैंड में ही रोक लिया गया हैं।

सुकमा कलक्टर खुद पहुंचे नदी जल स्तर देखने

सुकमा सुकमा जिले में बुधवार की दोपहर लगातार पांच घण्टों तक हुई बारिश से नदी नालों का जलस्तर तेजी से बढ़ा। जानकारी की बाद कलक्टर चन्दन कुमार खुद शबरी नदी के बढ़ते जल स्तर का जायजा लेने झापरा पहुंचे। कलक्टर ने लोगों को उफनती नदी नालों को पार नहीं करने तथा सर्तक और सावधान रहने को अनुरोध किया हैं। उन्होंने ने अधिकारियों को भी बाढ़ की स्थिति पर लगातार नजर रखने के निर्देश दिए हैं।

भारी बारिश के कारण कई गावं हुए जलमग्न, मुख्यालय से संपर्क पूरी तरह कटा

पिछले दो दिनों से बस्तर जिले के साथ ही पड़ोसी राज्य ओड़ीसा में हो रही लगातार बारिश को देखते हुए कलक्टर डॉ. अय्याज तम्बोली ने जिला प्रशासन को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कल से बस्तर और ओड़ीसा में लगातार हो रही बारिश के कारण प्रशासन को मुस्तैद रहने के साथ ही आमजन से भी नदी- नालों से दूर रहने की अपील की है।

सुकमा पुलिस ने लौटाई गुजरात के एक परिवार की खुशियां, पढ़िए भाऊक कर देने वाली सच्ची कहानी

उन्होंने भारी बारिश को देखते हुए नदी- नालों के जलस्तर पर भी नजर बनाए रखने के निर्देश सभी अधिकारियों को दिए हैं तथा डुबान वाले क्षेत्रों के लोगों को भी सतर्क रहने को कहा है। ऐसे इलाकों में मुनादी कराकर लोगों को आगाह करने के निर्देश दिए गए हैं। कलक्टर ने भारी बारिश को देखते हुए बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए चिन्हांकित स्थानों में राहत शिविरों के संचालन के लिए भी पूरी तैयारी रखने के साथ ही सभी एहतियाती कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। सड़कए विद्युत और संचार सेवा को निर्बाधित रखने के लिए अपने अपने-अपने अमले को सतर्क रहने को कहा है। उन्होंने इन सेवाओं में कम से बाधा सुनिश्चित करने को कहा है।