स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आम आदमी की थाली से दूर हो गई दाल

Yogesh Tiwari

Publish: Jan 18, 2020 03:47 AM | Updated: Jan 18, 2020 03:47 AM

Sri Ganganagar

dal removed from the common man's plate.... दाल के भाव आसमान को छू रहे हैं तथा बढ़ते भाव के कारण दाल आम आदमी की थाली की पहुंच से बाहर हो रही है।

सादुलशहर (श्रीगंगानगर). दाल के भाव आसमान को छू रहे हैं तथा बढ़ते भाव के कारण दाल आम आदमी की थाली की पहुंच से बाहर हो रही है। पहले कहा करते थे कि दाल रोटी खाओ, प्रभु के गुण गाओ। लेकिन दालों के भाव इस कदर बढ़ गए हैं कि बात फीकी लगने लगी हैं। खाद्य पदार्थों के दामों में आए दिन हो रही बढ़ोतरी से रसोई का बजट गड़बड़ा गया है
किरयाना यूनियन के अध्यक्ष आत्माराम चावला व महासचिव सहदेव स्याग ने बताया कि गत एक माह में दालों के दामों में काफी वृद्धि हुई है। उड़द धुली दाल 120 रुपए, मूंग धुली दाल 110 रुपए, मूंग छिलका दाल 100 रुपए, मसूर दाल 65 रुपए, चना दाल 60 रुपए, अरहर दाल 60 रुपए, उड़द छिलका दाल 100 रुपए, मूंग साबुत 90 रुपए, डालर चना 80 रुपए, चना काला 60 रुपए, राजमा के भाव 80 रुपए प्रतिकिलो तक हैं। इसके अलावा गेहूं आटे का भाव 27 रुपए तक हो गए हैं। घरेलू गैंस सिलेंडर का दाम 743 रुपए प्रति सिलेण्डर है, जिसमें मात्र 166 रुपए सब्सिडी उपभोक्ता के खाते में आ रही है। घरेलू गैंस सिलेण्डर उपभोक्ता को 166 रुपए की सब्सिडी के बाद 577 रुपये का मिल रहा है। गृहिणी आशा उपनेजा, रामप्यारी ढुंढाड़ा, नीलम सोलंकी आदि ने बताया कि दाल के भाव काफी बढ़ गए हैं। इससे रसोई के बजट पर असर पड़ा है। गत दिनों के मुकाबले सब्जियों के दाम में कुछ गिरावट आई है, जिससे कुछ राहत मिली है। दूध के दाम तो दिन-प्रतिदिन बढ़ रहे हैं। व्यापारी सतपाल अरोड़ा ने बताया कि मिर्च-मसालों के दाम भी आसमान को छू रहे हैं।

[MORE_ADVERTISE1]