स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कभी भी रोहतक जेल से आ सकता है गुरमीत राम रहीम का फरमान, नजर गड़ाए बैठे सभी राजनीतिक दल

Prateek Saini

Publish: May 09, 2019 22:02 PM | Updated: May 09, 2019 22:02 PM

Sirsa

हरियाणा की राजनीति में डेरा प्रेमियों का वोट होगा निर्णायक भूमिका...

(सिरसा,गणेश सिंह चौहान): हरियाणा की राजनीति में डेरा प्रेमियों का वोट निर्णायक भूमिका निभाने वाला है। चुनावी समर में राजनैतिक पंडित डेरा समर्थकों के वोट को तुरुप का इक्का बता रहे है। वैसे तो डेरा समर्थक देश भर में काफी सख्या में है और सबसे अधिक राजस्थान,मध्यप्रदेश ,दिल्ली हरियाणा में फैले हुए है। लेकिन हरियाणा की चार लोकसभा सीटों पर इनका खासा प्रभाव है। जिसमें सिरसा, हिसार, कुरुक्षेत्र और अंबाला लोकसभा क्षेत्र है जिसने भी इनको नजरंदाज किया है उसे हार मिली हैं। इन चार लोकसभा में इनकी ताकत को कोई भी नजरंदाज किया जा सकता। जिसके चलते डेरा प्रेमियों का वोट भाजपा या कांग्रेस के लिए निर्णायक भूमिका निभा सकता है और डेरे के इशारों में भाजपा व कांग्रेस की सांसे अटकी हुई है।

 

भाजपा व कांग्रेस की सांसे अटकी

अक्टूबर 14 यानी पिछले विधानसभा चुनावों में डेरे का समर्थन भाजपा के लिए संजीवनी साबित हुआ था और उनके समर्थन से भाजपा को 47 सीटे मिली थी। तथा सबसे अधिक हिसार ,हिसार को मिली थी। लेकिन इस बार परिस्थितियां उलट है डेरा प्रेमियों की संगत गुरमीत राम रहीम को जेल भेजने के लिए भाजपा को दोषी मानती है। जबकि इंडियन नेशनल लोकदल लोकदल ने राम रहीम की फिल्म का विरोध करके डेरा को नाराज किया हुआ है।

अब इनके पास विकल्प के रूप में कांग्रेसी पार्टी बची है। इसके अलावा कबीरपंथी रामपाल के पास भी अच्छी खासी संख्या में अनुयायियों की फौज है। इस प्रकार ऐन मौके पर डेरा प्रेमियों द्वारा लिया गया निर्णय हरियाणा की राजनीति में अहम साबित होगा। जिस भी पार्टी को डेरा प्रेमी वोट करेंगे उसके लिए डेरा समर्थकों की वोट तुरुप का इक्का साबित होगी और किसी भी समय बाबा का रोहतक जेल से कोई बड़ा फरमान आ सकता है और बाबा के भक्त भी इसी इंतजार में दिखाई देते है। इसके अलावा पंजाब व राजस्थान में भी इनकी खासी संख्या मौजूद है। राजस्थान में हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की जीत में डेरा समर्थकों की भूमिका किसी से छिपी नहीं है। अब देखना ये है कि डेरा समर्थकों का ऊंट किस करवट बैठता है।

 

रोहतक जेल में बाबा पर दवाब

राजनीतिक दलों के नेता हरियाणा की रोहतक जेल में भी संगत गुरमीत राम रहीम पर दवाब बना रहे है वे उन्हे अपना समर्थन कर दे। लेकिन गुरमीत राम रहीम अभी किसी भी दल के लिए समर्थन की घोषणा नहीं कर रहे मगर सुत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गुरमीत राम रहीम ने जेल से भाजपा का समर्थन नहीं करने को कहा है वहीं सरकार भी बाबा से मिलने वालों पर नजर लगाये हुए है।