स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

डेरा सच्चा सौदा भक्तों से वोट मांगने पहुंच चुके हैं कांग्रेस, इनेलो और जेजेपी नेता, डेरा ने अभी जाहिर नहीं किया अपना रूख

Prateek Saini

Publish: Apr 27, 2019 21:57 PM | Updated: Apr 27, 2019 21:57 PM

Sirsa

डेरा प्रबन्धन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस बात की संभावना नहीं है कि डेरा प्रमुख का परिवार किसी राजनीतिक दल के पक्ष में मतदान के लिए निर्देश जारी करेगा...

(चंडीगढ, सिरसा): हरियाणा के सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम भले ही दो साध्वियों के साथ बलात्कार और एक पत्रकार की हत्या के मामले में सजायाफ्ता होने के बाद जेल में है लेकिन डेरा भक्तों की राजनीतिक अहमियत अभी कायम है। इसीलिए लोकसभा चुनाव के इस दौर में राजनीतिक दलों के नेताओं ने डेरा भक्तों के बीच पहुंचकर वोट मांगना शुरू कर दिया है। कांग्रेस, इनेलो और जेजेपी के नेता अब तक डेरा भक्तो से वोट मांगने पहुंच गए है। हालांकि अभी डेरा प्रबन्धन ने अपनी ओर से किसी पार्टी विशेष का समर्थन नहीं किया है। डेरा के भक्त पूरे देश में है। लेकिन हरियाणा और पंजाब में खासी संख्या है। डेरा प्रबन्धन की ओर से जारी किया जाने वाला समर्थन इन भक्तों को किसी राजनीतिक दल विशेष के पक्ष में मतदान के लिए मोडता है। हरियाणा में दस लोकसभा सीटों के लिए 12 मई और पंजाब में 13 लोकसभा सीटों के लिए 19 मई को मतदान कराया जाना है। ऐसे में सभी राजनीतिक दलों की नजरें डेरा प्रबन्धन की ओर लगी है। डेरा का स्थापना दिवस एक दिन बाद ही 29अप्रेल को मनाया जाना है। स्थापना दिवस के सिलसिले में बैठकों का आयोजन डेरा भक्त कर रहे है।

 

डेरा प्रबन्धन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस बात की संभावना नहीं है कि डेरा प्रमुख का परिवार किसी राजनीतिक दल के पक्ष में मतदान के लिए निर्देश जारी करेगा। ज्यादातर डेरा भक्तों का राजनीतिक दलों से मोहभंग हो गया है। अगर उन्हें अपनी आत्मा की आवाज पर वोट डालने के लिए कहा जाएगा तब भी वो वोट नहीं डालेंगे। उधर सूत्रों का कहना है कि यदि मतदान का फैसला डेरा भक्तों पर ही छोडा जाता है तो यह भाजपा के लिए नुकसान देह होगा। डेरा प्रमुख की 25अगस्त 2017 को पंचकूला में गिरफ्तारी के दौरान हुई हिंसा में 39 लोग मारे गए थे। वे गुस्से में उबल रहे है।