स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हरियाणा से महिलाओं को ले जाते थे यहां और फिर करते थे भ्रूण जांच, बड़े गिरोड का पुलिस ने किया भंड़ाफोड़

Prateek Saini

Publish: May 22, 2019 18:55 PM | Updated: May 22, 2019 18:55 PM

Sirsa

सिरसा के डिप्टी सीएमओ बुद्धराम ने बताया कि पिछले कुछ समय से सिरसा में लिंगानुपात कम हो रहा था...

(सिरसा): सिरसा स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कल पंजाब के मुक्तसर में छापेमारी कर भ्रूण जांच करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है। टीम ने इसमें शामिल एक आरोपी को गिरफ्तार किया है जबकि एक आरोपी भागने में कामयाब रहा। इस पूरे गिरोह में शामिल एक महिला समेत तीन के खिलाफ पीएनडीटी एक्ट के तहत मुक्तसर में मामला दर्ज किया गया है। महिला पुलिस की गिरफ्त से दूर है।


सिरसा के डिप्टी सीएमओ बुद्धराम ने बताया कि पिछले कुछ समय से सिरसा में लिंगानुपात कम हो रहा था। उन्हें गुप्ता सूचना मिली थी कि पंजाब के मुक्तसर में भ्रूण जांच का धंधा चल रहा है। पंजाब की एक महिला सिलोचना संलिप्त है, जो खुद को स्टॉफ नर्स बताती है। स्वास्थ्य विभाग की टीम गठित की गई। इस टीम में मेडिकल आफिसर गौरव भाटी और हरसिमरन को शामिल किया गया। उन्होंने एक गर्भवती महिला को डिकोय बनाया और सिलोचना के पास फोन किया। सिलोचना ने कहा कि मैं बीमार हूं, उन्होंने रोशन लाल का मोबाइल नंबर दे दिया। रोशन लाल ने 45 हजार रुपए में सौदा किया। वह गर्भवती महिला को पंजाब के मुक्तसर में लेकर चले गए। यहां वे एक लड़के जतिन से मिले। जिसने 25 हजार रुपए लिए। जतिन और रोशन लाल महिला को वहीं छोड़कर अल्ट्रासाउंड केंद्र पर गए, लेकिन उसने भ्रूण जांच करने से मना कर दिया। दोनों महिला के पास पैसे वापिस लौटाने पहुंचे तो पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की टीम ने रोशन लाल को पकड़ लिया जबकि जतिन भागने में कामयाब हो गया।


स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सिलोचना, रोशन लाल और जतिन के खिलाफ पीएनडीटी एक्ट के तहत मामला दर्ज करवा दिया है। गौरतलब है कि पिछले चार महीने से सिरसा में लिंगानुपात गिर रहा था। 3414 लड़कों पर 3043 लड़कियों ने जन्म लिया था।