स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गोचर भूमि से अतिक्रमण हटाने की गुहार

Mahesh Parbat

Publish: Jul 18, 2019 08:48 AM | Updated: Jul 18, 2019 08:48 AM

Sirohi

मूरी के ग्रामीणों ने बुधवार को जिला कलक्टर को ज्ञापन देकर गोचर भूमि में आदिवासी लोगों के अतिक्रमण हटाने की मांग की।


सिरोही. मूरी के ग्रामीणों ने बुधवार को जिला कलक्टर को ज्ञापन देकर गोचर भूमि में आदिवासी लोगों के अतिक्रमण हटाने की मांग की। ग्रामीणों ने बताया कि गोचर भूमि में गरासिया तथा भील जाति के लोगों ने कच्चे मकान बना दिए हैं। इनका आतंक बढ़ता जा रहा है। पशुपालक तो मवेशी तक चरने नहीं भेजते हंै। अगर कोई पशु वहां चला भी जाता है तो लोग बाहर निकाल देते हैं। विरोध करने पर मारपीट पर उतारू हो जाते हैं। ग्रामीणों ने बताया कि अतिक्रमण हटाने को लेकर पूर्व में उपखण्ड अधिकारी तथा तहसीलदार को भी ज्ञापन दिया गया, लेकिन समाधान नहीं हो रहा है। अतिक्रमी बाहर से आकर यहां आए हैंै। इस दौरान पूर्व पालिकाध्यक्ष अचलसिंह बालिया, सुरेश रावल, पूर्व सरपंच अब्दुल, वार्ड पंच छोपाराम, जय किशन खण्डेलवल, तेजाराम देवासी, पीराराम देवासी, सीताराम, सदाराम, देवाराम, भंवरलाल, अशोक, भानाराम, चतराराम, पोसाराम, रमेश, बाबूलाल, लसाराम समेत छह दर्जन ग्रामीण मौजूद थे।
जिलेभर में यही हाल, लोग हो रहे परेशान
गोचर भूमि में अतिक्रमण का मामला पूरे जिले में चल रहा है। बाहर से आने वाले लोग गोचर भूमि में डेरा डाल देते हंै, धीरे-धीरे अन्य लोगों को भी बुलाकर कुनबा बढ़ा लेते हैं। जिला मुख्यालय के सारणेश्वर गांव में भी सैकड़ों बीघा भूमि पर आदिवासियों ने अतिक्रमण कर रखा है। यही नहीं, कई लोगों ने तो झरनों के बहाव में भी पक्के निर्माण कर दिए हैं।