स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सिरोही के इस गांव में बदमाशों ने नाकाबंदी तोड़कर की पुलिस पर फायरिंग, फिर भाग निकले, सभी सुरक्षित, जानिए कैसे हुई घटना

Bharat Kumar Prajapat

Publish: Jul 17, 2019 10:38 AM | Updated: Jul 17, 2019 10:38 AM

Sirohi

  • पुलिस जीप पर लगी तीन गोलियां, एंगल व रेडिएटर भी तोड़े
  • गोल गांव की घटना: पुलिस ने भी हवा में की फायरिंग

सिरोही. जिले के बरलूट थाना क्षेत्र के गोल गांव में सोमवार आधी रात बाद लोडिंग जीप में सवार दो बदमाशों ने नाकाबंदी के दौरान पुलिस पर फायरिंग की और फरार हो गए। हमले में कोई हताहत या घायल नहीं हुआ है। आरोपियों को पकडऩे के लिए पुलिस ने भी हवा में फायरिंग की लेकिन कोई काम नहीं आई। बदमाश पांच-छह राउंड फायर करते हुए भाग गए। फायरिंग के दौरान पुलिस जीप पर तीन गोलियां लगी हैं। आरोपी पुलिस जीप को टक्कर मारकर एंगल और रेडिएटर तोड़ गए। इस दौरान जीप के शीशे भी टूट गए। आरोपी मादक पदार्थ के तस्कर बताए जा रहे हैं।
थाना प्रभारी मोहनलाल विश्नोई ने बताया कि आधी रात बाद बरलूट सर्किल में गश्त की जा रही थी। रात करीब दो बजे सूचना मिली कि मांडवा मार्ग से कुछ बदमाश लोडिंग जीप को तेज रफ्तार से लेकर गए हैं। इसमें मादक पदार्थों की तस्करी होने की भी आशंका थी। पुलिस गोल गांव के पास पहुंची और दोनों तरफ नाकाबंदी कर दी। थोड़ी देर में जीप दूर से आती दिखाई दी तो सभी पुलिसकर्मी अलर्ट हो गए। नजदीक आने पर थाना प्रभारी ने उसे रोकने का इशारा किया लेकिन तस्करों ने जीप नहीं रोकी और पहली तरफ की नाकाबंदी तोड़कर आगे निकल गए लेकिन पुलिस ने दूसरी नाकाबंदी पर टायर पंचर करने के नुकीले उपकरण सड़क पर डाले तो बदमाशों ने जीप रोक दी। फिर तेज रफ्तार से जीप को पीछे लाकर पुलिस की खड़ी जीप को तीन-चार बार टक्कर मार दी, लेकिन जीप नहीं हटी तो बदमाशों ने दनादन फायर शुरू किए। इससे जीप का शीशा टूट गया। इसके बाद तीन फायर और किए। जवाबी कार्रवाई में थानाप्रभारी ने भी हवाई फायर किया तो बदमाश फिर से जीप को तेज रफ्तार से दूसरी नाकाबंदी की ओर से लेकर भाग गए। पुलिस ने जीप को स्टार्ट किया, लेकिन टक्कर से रेडिएटर व एंगल टूट जाने से आगे नहीं चल पाई।
थाना प्रभारी ने आस-पास में सभी थानों में फोन कर सूचना दी और नाकांबदी भी करवाई। साथ ही, मौके पर अतिरिक्त जाप्ता बुलाया, लेकिन तब तक बदमाश भाग गए। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। घटना के समय पुलिसकर्मी मगाराम, भीखाराम, भारमल मौजूद थे। इसके बाद पपाराम, निम्बाराम, आसूराम तथा शंकरलाल भी पहुंचे।

तीन माह पहले भी घटना
करीब तीन महीने पहले मार्च में भी ऐसी ही घटना हुई थी। तब एक लग्जरी कार में सवार बदमाशों द्वारा सिरोही से मेवाड़ की ओर मादक पदार्थ ले जाने की सूचना मिली थी। बरलूट थाना प्रभारी मोहनलाल बिश्नोई के नेतृत्व में नाकाबंदी की गई थी, जिसमें सवार बदमाशों ने पुलिस पर करीब दस राउंड फायर किए थे। हालांकि पुलिस ने जवाबी फायरिंग करते हुए घेराबंदी कर दोनों बदमाशों को पकड़ लिया था।

हथियारों से लैस होते हंै अपराधी
जानकार बताते हैं कि रात को तस्करों या लुटेरों के पास हथियार भी होते हैं, ऐसे में मौका देखते ही फायर शुरू कर देते हैं। सिरोही पुलिस की ओर से रात को सूचना के दौरान की गई नाकाबंदी तोडऩे के अधिकतर मामलों में बदमाशों ने सामने से फायर किया है। बीती रात को भी घटना में बदमाशों ने करीब छह फायर किए थे।

दर्ज किया मामला...
बीती रात को गश्त के दौरान पुलिस पर फायरिंग तथा डबल नाकाबंदी तोडऩे वाले बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस जांच कर रही है।
- नारायणसिंह राजपुरोहित, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सिरोही

आरोपियों की तलाश जारी...
रोजमर्रा की तरह गश्त और नाकाबंदी चल रही थी। इस दौरान तेजगति से लोडिंग जीप आई और नाकाबंदी तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। जवाब में पुलिस ने भी फायरिंग की। आरोपियों की तलाश जारी है। पड़ोसी जिले जालोर में भी नाकाबंदी करवाई गई।
-कल्याणमल मीना, एसपी, सिरोही