स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हाई अलर्ट पर रहना था 17 से और सिरोही पुलिस ने बोर्डर सील किया 19  अगस्त को

Mahesh Parbat

Publish: Aug 20, 2019 10:57 AM | Updated: Aug 20, 2019 10:57 AM

Sirohi

-आतंकी घुसने की सूचना पर राजस्थान-गुजरात बोर्डर पर बढ़ानी थी चौकसी
-सिरोही एसपी ने सोमवार को थानाधिकारियों के नाम निकाला आदेश

-सरकार की जय हो...
सिरोही. आतंकी हमले की आशंका के चलते दो दिन पहले जयपुर के पुलिस महानिरीक्षक (सुरक्षा) ने एक पत्र जारी कर राजस्थान-गुजरात बोर्डर पर हाई अलर्ट करने को कहा था लेकिन सिरोही एसपी कार्यालय ने दो दिन बाद १९ अगस्त को आदेश जारी कर सीमा से गुजरने वाले वाहनों की सघन जांच करने को कहा है। साथ ही, बोर्डर को सील कर संदिग्धों से पूछताछ के निर्देश दिए हैं।
दरअसल, जयपुर के पुलिस महानिरीक्षक (सुरक्षा) ने १७ अगस्त को पुलिस अधीक्षक को एक पत्र (वितन्तु संदेश) जारी कर ताकीद किया था कि पाक आईएसआई एजेन्ट के साथ चार सदस्य अफगानिस्तान गु्रप का पासपोर्ट बनाकर भारत सीमा में प्रवेश हुए हैं। जिससे देश सहित गुजरात और राजस्थान के बोर्डर को हाई अलर्ट पर घोषित किया गया है। ये कभी भी आतंकी घटना कर सकते हैं। लिहाजा आप अपने थाना क्षेत्र के समस्त होटल, ढाबों, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, भीड़ भाड़ वाले इलाकों पर विशेष सघन चैंकिंग करते हुए सतर्कतापूर्वक निगरानी रखेंगे।
इस आदेश के दो दिन बाद १९ अगस्त को सिरोही एसपी कल्याणमल मीना ने आदेश निकाला है जिसमें जयपुर से मिले पत्र का हवाला देते हुए पिण्डवाड़ा, मोरस टोल नाका, आबूरोड रीको, मावल, छापरी और मण्डार के थानाधिकारियों को चौकसी बढ़ाने का फरमान जारी किया है। साथ ही, कहा है कि नाकाबंदी कर वाहनों की सघन जांच संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ करें। इसकी पालना सुनिश्चित करें।
सुलगते सवाल...
सवाल यह कि आतंकी हमले सरीखी सूचना पर सिरोही पुलिस इतनी सुस्त क्यों? जयपुर मुयालय से हाईअलर्ट पर रहने का फरमान १७ अगस्त को जारी हुआ फिर सिरोही पुलिस ने दो दिन क्या किया? क्यों दो दिन बाद १९ अगस्त को बोर्डर को सील करने को कहा गया? क्या आतंकी दो दिन तक किसी का इंतजार करेंगे?
सीमा को सील किया
हमें आतंकी हमले की आशंका की सूचना मिली थी। इसलिए राजस्थान-गुजरात बोर्डर पर चौकसी कल से ही बढ़ा दी गई थी। गुजरात सीमा को सील कर दिया गया है।
-कल्याणमल मीना, पुलिस अधीक्षक, सिरोही