स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अनादरा का दर्दनाक हादसा : काल बनकर आया ट्रेलर, 5 जनों की मौत, 12 घायल

Amar Singh Rao

Publish: Oct 11, 2019 10:18 AM | Updated: Oct 11, 2019 10:18 AM

Sirohi

पहले खम्भे से टकराया, फिर दो जीपों को घसीटता दुकान में शटर तक घुसा

सिरोही. रेवदर मेगा हाइवे पर स्थित अनादरा बस स्टैण्ड के पास गुरुवार दोपहर करीब एक बजे बेकाबू ट्रेलर खम्भे से टकराने के बाद दो जीपों को घसीटते हुए दुकान में घुस गया। हादसे में पांच जनों की मौत हो गई और बारह जने घायल हुए। इनमें से 9 जनों को सिरोही के राजकीय अस्पताल में भर्ती करवाया गया जबकि मामूली चोटिल तीन जनों का अनादरा अस्पताल में ही उपचार किया गया। हादसे में ट्रेलर चालक भी गंभीर घायल हुआ हैै। अनादरा थाना प्रभारी हमीरसिंह भाटी ने बताया कि चालक भिंड निवासी मुनेशसिंह पुत्र कालीचरण रेवदर की तरफ से ट्रेलर को तेज गति से लेकर आ रहा था। यहां अनादरा स्टैण्ड के पास स्पीड तेज होने से ट्रेलर अनियंत्रित हो गया और लहराता हुआ पहले बिजली के ट्रांसफार्मर लगे खम्भे से टकराया।उसके बाद दो जीपों और तीन मोटरसाइकिलों को चपेट में लेता हुआ एक दुकान के शटर तक पहुंच गया। हादसे में वहां खड़े और जीप में बैठे लोग ट्रेलर के नीचे दब गए। मौके पर अफरा-तफरी मच गई। लोग चीखते-चिल्लाते इधर-उधर भागने लगे। एकाएक हुए इस हादसे के बाद भीड़ उमड़ गई। जिधर से भी चिल्लाने की आवाज आती लोग उस तरफ भागने लगते। कोई कुछ समझ ही नहीं पा रहा था कि नीचे कितने लोग दबे हैं। आसपास के लोगों ने सभी घायलों को बाहर निकाला और अस्पताल पहुंचाया। सूचना पर जिला कलक्टर सुरेन्द्रकुमार सोलंकी और पुलिस अधीक्षक कल्याणमल मीना मौके पर पहुंचे और हादसे की जानकारी ली। पुलिस ने जेसीबी की सहायता से ट्रेलर को साइड में करवाकर यातायात सुचारू करवाया।

अस्पताल में चाक चौबंद व्यवस्था
इधर, दुघर्टना की सूचना पर राजकीय अस्पताल में अतिरिक्त जिला कलक्टर रिछपालसिंह बुरड़क, उपखण्ड अधिकारी हंसमुख कुमार, उप अधीक्षक ओम कुमार और सीएमएचओ डॉ. राजेश कुमार भी मौके पर पहुंचे तथा चिकित्सकों तथा नर्सिंग स्टाफ को बुलाया और उपचार पर निगरानी रखी। इसके बाद पूर्व उप मुख्य सचेतक रतन देवासी ने अस्पताल में पहुंचकर घायलों से जानकारी ली। साथ ही चिकित्सा अधिकारियों को समय पर उपचार देने की बात कही। विधायक जगसीराम कोली भी अस्पताल पहुंचे तथा घायलों से मिले। सभापति धनपतसिंह, डॉ.सुनिता थरेजा, डॉ. आरपी कोठारी, डॉ. मुकेश मीणा, डारॅ भी मौके पर पहुंचे।

इनकी मौत
दुर्घटना में असावा निवासी हिमाराम, वाजणा निवासी दिनेश (3), अनादरा निवासी धनीदेवी (60) की मौके पर ही मौत हो गई जबकि वेलांगरी निवासी दलपत (35) ने सिरोही अस्पताल में दम तोड़ा। सियाकरा निवासी सोकली (5) पुत्री प्रभुराम गरासिया ने उदयपुर में उपचार के दौरान मृत्यु हुई।

ये हुए घायल
असावा निवासी जोशना (35) पत्नी रणछोड़ चौधरी, मालगांव निवासी प्रवीणसिंह (45) पुत्र सोहनसिंह, नागाणी निवासी मोहित (11) पुत्र सरूपाराम मेघवाल, भूरीदेवी (50) पत्नी ओटाराम मेघवाल, सियाकरा निवासी सीना (3) पुत्री प्रभुराम, आमलखेड़ा निवासी मगन (8) एवं राहुल (5) पुत्र कृष्ण कोली, ट्रेलर चालक भिंड निवासी मुनेशसिंह पुत्र कालीचरण घायल हुए। इन्हें सिरोही के ट्रोमा सेंटर में भर्ती करवाया गया है। इसमें से ट्रेलर चालक और सोकली की स्थिति गंभीर होने पर उदयपुर रैफर किया जहां सोकली की मृत्यु हो गई। इसकी बहन का उदयपुर में उपचार जारी है।

इनको मामूली चोटें
दुर्घटना में वाजणा निवासी जमना (25) पत्नी जीवाराम, दुर्गा (10) पुत्री जीवाराम तथा मालगांव निवासी संजीव (40) पुत्र लक्ष्मणराम को मामूली चोटें आने पर अनादरा पीएचसी में भर्ती करवाया गया।

घायलों का हाल जाना
दुर्घटना की सूचना पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष जीवाराम आर्य ने भी अस्पताल पहुंचकर घायलों का हाल जाना। आर्य ने जिला कलक्टर से मुलाकात कर
तत्काल सरकारी सहायता देने की बात कही। यह जानकारी जिला कांग्रेस प्रवक्ता संजय कुमार वर्मा ने दी। प्रदेश कांग्रेस सचिव राजेन्द्र सांखला एवं पूर्व जिला प्रमुख चंदनसिंह देवड़ा भी ट्रोमा
सेंटर पहुंचे।

भाई ही नहीं रहा... अब किसका बनाएंगे लाइसेंस
वेलांगरी निवासी वीराराम पुत्र शंकरलाल वागरी ने बताया कि वह और उसका भाई दलपत समेत अन्य परिवार के सदस्य गुजरात के पालनपुर में काम करते हैं। इसलिए गुरुवार को वाहन का लाइसेंस बनाने के लिए जीप में सवार होकर सिरोही परिवहन कार्यालय जा रहे थे। अभी जीप अनादरा स्टैण्ड के पास ही खड़ी थी, इसी दौरान तेजगति से आए ट्रेलर ने टक्कर मार दी।हादसा इतना तेजी से हुआ कि किसी को संभलने का मौका ही नहीं मिला। हादसे में दलपत गंभीर घायल हुआ। जिसने सिरोही ट्रोमा सेंटर में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। रोते रोते वह अपने परिजनों को बार बार यहीं कह रहा था कि अब किसका लाइसेंस बनवाऊंगा। भाई तो नहीं रहा।

गर्भवती बेटी को नहीं पता...अब उसके पिता कभी नहीं लौटेंगे...
सिरोही अस्पताल में भर्ती असावा निवासी जोशना ने बताया कि वह प्रसव पीड़ा को लेकर उसके पिता हिमाराम के साथ डॉक्टर के पास आई थी। दिखाने के बाद यहां अनादरा स्टैण्ड पर खड़ी जीप में पिता के साथ बैठी ही थी कि अचानक ट्रेलर आकर जीप से टकरा गया। हादसा इतना एकाएक हुआ कि किसी को पता ही नहीं चला...देखते ही देखते जीप खिलौने की तरह बिखर गई और अन्दर बैठी सवारियां इधर-उधर दब गईं। जोशना के भी पांव में फ्रैक्चर हुआ है। उसे यहां अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वह बार-बार पिता के बारे में पूछ रही है लेकिन उसे यह कौन बताएं कि अब उनके पिता हमेशा-हमेशा के लिए उसे छोड़कर चले गए हैं। यानी हादसे में उसकी मौत हो गई।

बीच में ही बिखर गया टिफिन...
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि अपने पोते को खाना देने जा रही दादी धनीदेवी ने यह सोचा ही नहीं था कि आज वह जो पोते के लिए टिफिन ले जा रही है यह उसका आखिरी सफर होगा। लेकिन नियति को कुछ ऐसा ही मंजूर था। दादी घर से पोते के लिए खाना लेकर निकली। अभी चंद कदम ही भरे होंगे कि बेकाबू ट्रेलर उसे चपेट में लिया और बीच रास्ते ही में ही टिफिर बिखर गया। ट्रेलर के नीचे दबने से धनीदेवी की मौत हो गई।

अब किसको बुलाऊं...
सियावा हाला सियाकरा निवासी दिपली ने बताया कि वह उसकी तीनों पुत्रियों को लेकर सियाकरा जा रही थी। इसी दौरान अनादरा में दुर्घटना हो गई। जिसमें सीना व सोकली दोनों घायल हुए। दुर्घटना में मोबाइल व गहने तक वाहन के साथ बिखर गए। ऐसे में न तो फोन नम्बर याद है और नही कोई पैसे है। सोकली की स्थिति गंभीर होने पर उदयपुर रवाना किया था। जहां उसकी उपचार के दौरान मौत हो गई।

बेटी के लिए घी लेने जा रही थी और दुर्घटना हो गई...
नागाणी हाल माउंट आबू निवासी भूरीदेवी ने बताया कि वह और उसका पोता मोहित उसकी लड़की की डिलेवरी होने के बाद घी लेने टोकरा गांव जा रहे थे। लेकिन यहां दुर्घटना हो गई। ऐसे में बड़ा संकट आ गया। उसने बताया कि उसकी एक थैली थी, जिसमें करीब चार हजार रुपए भी थे, जो दुर्घटना स्थल पर ही खो गई।