स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बरगवां- धौडऱ मार्ग पर मुसीबत बना आवागमन, गड्ढे व कीचड़ से परेशानी, हादसों का खतरा

Amit Pandey

Publish: Sep 16, 2019 15:36 PM | Updated: Sep 16, 2019 15:36 PM

Singrauli

नहीं सुनी फरियाद......

सिंगरौली. धौडऱ-बरगवां मार्ग की सडक़ें बदहाल हो गई हैं। सडकों में बड़े-बड़े गड्ढे आवागमन में मुसीबत बन रहे हैं। जिससे दुर्घटना होने का खतरा बना रहता है। लंबे समय से खराब सडक़ की समस्या प्रशासन व जनप्रतिनिधयों को अवगत कराया गया है लेकिन इस ओर जिम्मेदारों ने ध्यान नहीं दिया। जिसका खामियाजा स्थानीय ग्रामीणों को भुगतना पड़ा रहा है। ग्रामीण बताते हैं कि सडक़ में वाहन हिचकोले खाते हुए निकलते हैं।

उन्हें इस मार्ग से होकर जाने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है। बतादें कि सडक़ से बाघाडीह, ओडग़ड़ी, तिनगुड़ी, देवरा सहित कई अन्य गांवों के लोगों का आवागमन का माध्यम यही सडक है। साथ ही बरगवां थाना, हिंडालको, एसबीआई शाखा बरगवां व वन विभाग का कार्यालय सडक़ से लगा हुआ है। इसके बावजूद सडक़ का सुधार नहीं होना जिम्मेदारों की लापरवाही को दर्शाता है।

कैश वाहन हो रहे वापस
बताते चलेंकि जर्जर सडक़ की दुर्दशा ऐसी है कि कैश वाहन बरगवां बाजार स्थित बैंक व एटीएम में नहीं पहुंच पा रहा है। कीचड़ व गड्ढा होने के कारण बैंक में आनें वाले ग्राहक व कर्मचारियों को मार्ग से होकर गुजरने में दिक्कत होती है। स्थिति ये है कि बरगवां बाजार में कैश वाहन नहीं पहुंचने से स्थानीय उपभोक्ताओं को पैसे की किल्लत हो रही है। जिससे उन्हें परेशानियों की दौर से गुजरना पड़ रहा है।

फंस जाती है एंबुलेंस
इन दिनों मार्ग की स्थिति ये है कि एंबुलेंस वाहन जाने से कतरा रहे हैं। इसका वजह है कि बड़े-बड़े गडï्ढे में वाहन फंस जाता है। जिससे अस्पताल जा रहे मरीज को खतरा बना रहता है। वही १०० डायल को इवेंट्स मिलने पर उस मार्ग से जाने की हिम्मत नहीं जुटाते। बावजूद इसके सेवा भाव के लिए वाहनों को जान हथेली पर रखकर जन सेवा के लिए जाना पड़ता है।

बोले ग्रामीण:-
जोबगढ़ गांव के चन्द्रमणि पाण्डेय ने बताया कि सडक़ में दो किमी का सफर ऐसा लगता है कि लंबी दूरी तय कर रहे हैं। वहीं खेखड़ा गांव के अभिषेक प्रताप सिंह ने बताया की जर्जर सडक़ होने के कारण घर के स्कूली वाहन नहीं पहुंचता है। जिससे छोटे बच्चों को परेशानी होती है। बरहवाटोला निवासी इन्द्रजीत गुप्ता ने बताया कि इस मार्ग पर कई बार हम दुर्घटनाग्रस्त हुए हैं। इधर, उपेन्द्र द्विवेदी ने कहा कि जर्जर सडक़ के चलते बाजार में खरीदारी करने जाने में दिक्कत होती है।