स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

क्राइम समीक्षा बैठक में सामने आई वस्तुस्थिति, 10 महीनों में 2400 से अधिक अपराध

Amit Pandey

Publish: Oct 19, 2019 15:25 PM | Updated: Oct 19, 2019 15:25 PM

Singrauli

अपराध समीक्षा बैठक....

सिंगरौली. पुलिस अधीक्षक कार्यालय सभागार में पिछले दिनों अपराध समीक्षा बैठक में अपराधों का ग्राफ बढऩे की हकीकत सामने आई। वहीं कई अन्य अपराध कम होने का थानेदारों ने दावा किया। इस पर एसपी ने उपस्थित थानेदारों को अपराध का ग्राफ कम करने के लिए चेताया है। बात करें 31 अक्टूबर तक में अपराधों की संख्या की तो 24 सौ से अधिक है। इसमें कई गंभीर अपराध हैं जो न केवल डराते हैं बल्कि पुलिस का भी कान खड़े कर देेते हैं।

ऐसे अपराधों को संज्ञान में लेकर उसे रोकने की कवायद करने एसपी ने थानेदारों को समझाइश दिया है। हत्या, अपहरण, दुष्कर्म, चोरी, गृहभेदन सहित अन्य अपराध भी तेजी से बढ़ रहा है। कुछ अपराधों में पुलिस बदमाशों का सुराग तक नहीं लगा पाई है। इसका नतीजा यह है कि बेखौफ होकर बदमाश पुन: वारदात को अंजाम देते हैं।

ग्रामीण थाना क्षेत्रों में गंभीर अपराध
बतादें कि जिले के माड़ा, सरई, चितरंगी व जियावन थाना क्षेत्रों में अधिक अपराध घटित हो रहे हैं। वजह माना गया है कि ग्रामीण थानेदार जनता से दूरी बना लिए हंै। जिससे गांव के लोगों में जागरूकता का अभाव है। नतीजा यह सामने आ रहा है कि कहीं चार तो कहीं सात वर्षीय मासूम बच्चियों के साथ में दुष्कर्म हो रहा है। ऐसी घटनाओं को बदमाश देहात के थाना क्षेत्रों में अंजाम दे रहे हैं।

हाल में हुई घटनाएं:
केस-एक
जियावन थाना क्षेत्र अंतर्गत बीते तीन दिन पहले एक गांव में चार वर्षीय मासूम के साथ दुष्कर्म हुआ। मासूम की हालत बिगड़ते देख परिजनों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। जहां से वाराणसी के लिए रेफर कर दिया गया है। हालांकि पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे हिरासत में ले लिया है।

केस-दो
गोभा चौकी अंतर्गत अक्टूबर के प्रथम सप्ताह एक गांव में स्कूल से घर जा रही सात वर्षीय मासूम के साथ नाबालिग आरोपी ने दुष्कर्म किया। घटना के बाद आरोपी ने किसी से नहीं बताने की धमकी दिया। मासूम के परिजनों को घटनाक्रम के बारे में जानकारी होने पर थाने पहुंच मामले की शिकायत दर्ज कराई।

प्रमुख घटनाओं की स्थिति
हत्या - 24
लूट - 07
दुष्कर्म - 78
अपहरण - 102
चोरी - 122
गृहभेदन - 62