स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जेल से रिहा आरोपियों की तैयार होने लगी कुंडली, एसपी ने जल्द से जल्द सूची तैयार करने का दिया निर्देश

Amit Pandey

Publish: Dec 12, 2019 14:48 PM | Updated: Dec 12, 2019 14:48 PM

Singrauli

सक्रिय हुए सभी थानेदार.....

सिंगरौली. जमानत पर जेल से रिहा आरोपी सतर्क हो जाएं। उनकी छोटी सी भी गैर कानूनी गतिविधि उन्हें दोबारा जेल की सलाखों के पीछे धकेल सकती है। दरअसल थानों में जेल से रिहा होने वाले आरोपियों की कुंडली तैयार होने लगी है। सोमवार को अपराध समीक्षा बैठक के दौरान आईजी चंचल शेखर ने थानेदरों को नसीहत देते हुए सक्रियता दिखाने का सख्त निर्देश दिया है। आईजी के निर्देश के बाद जेल से छूटने वाले बदमाशों की निगरानी रखने के साथ सूची तैयार करने का निर्देश एसपी अभिजीत रंजन ने थानेदारों को दे दिया है।

जानकारी के लिए बता दें कि गंभीर वारदात को अंजाम देने के बाद भी बदमाश चंद दिनों में जेल से रिहा हो जाते हैं। इसके बाद पुन: वारदात को दोहराने में कोई कसर नहीं छोड़ते। ताजा मामला यह है कि गिरोह बनाकर बाइक चोरी के मामले में गिरफ्तार हुए आरोपियों में दो ऐसे आरापी शामिल हैं, जो आदतन अपराध की सूची में शामिल हैं। पुलिस ने आरोपियों को जेल भेज दिया है। मगर, इससे पहले भी ये आरोपी कई बार चोरी, लूट, डकैती, मारपीट सहित अन्य वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। बदमाशों को पुलिस जेल भेज देती है मगर, चंद महीनों बाद जेल से आदतन अपराधियों की रिहाई हो जाती है।

...और इसलिए नहीं रहता खौफ
अपराध चाहे कितना भी गंभीर क्यों न हो, लेकिन बदमाशों को जेल में कुछ पल ही गुजारने पड़ते हैं। फिर बदमाशों की जेल से रिहाई होना आम बात हो गई है। यही वजह है कि वारदात को दोहराने में उन बदमाशों को पुलिस का खौफ नहीं रहता है क्योंकि उन्हें पता है कि पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेजेगी और फिर जेल से रिहाई होने में कोई रोक नहीं सकता है। ऐसी परिस्थितियों में पुलिस को गंभीर धाराओं के तहत कार्रवाई करनी होगी।

अब पुलिस की नजरों में निगरानी
अपराधिक घटनाओं में संलिप्त बेखौफ घूम रहे बदमाशों पर अब पुलिस निगरानी रख रही है। आदतन अपराधी यदि यह सोच रहे हैं कि पुलिस की नजरों से ओझल हैं तो यह बात अपने मन से निकाल दें क्योंकि जेल से रिहा होने वाले बदमाशों के हर गतिविधियों पर पुलिस गिद्ध नजर गड़ाए बैठी है। एसपी के निर्देश के बाद जिले के सभी थानेदार उन बदमाशों का रिकार्ड खंगाल रहे हैं जो बार-बार अपराध घटित करते हैं और फिर जेल से छूट जाते हैं।

यह है उदाहरण:

केस-एक
अभी हाल ही में कोतवाली पुलिस ने आदतन अपराधी मोहम्मद हकिम उर्फ पप्पुला निवासी हिर्रवाह को बाइक चोरी के मामले में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। आरोपी गिरोह का सरगना था। चोरी, मारपीट, लूट जैसी घटनाओं को लंबे समय से अंजाम दे रहा है। आदतन अपराधी के खिलाफ शहर के थानों में कई अपराध दर्ज हो चुके हैं।

केस-दो
गनियारी निवासी आदतन अपराधी अख्तर गिरोह चलाकर बाइक चोरी के साथ लूट, डकैती व मारपीट की घटनाओं को अंजाम देता था। कोतवाली पुलिस ने बाइक चोर गिरोह का पर्दाफाश करते हुए आरोपी को जेल भेज दिया है। पुलिस ने बताया है कि अख्तर आदतन अपराधी है। जेल से छूटने के बाद फिर सक्रिय हो जाता है।

[MORE_ADVERTISE1]