स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जिले में धारा 144 लागू, कलेक्टर ने दिया आदेश, अयोध्या निर्णय के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस अलर्ट

Amit Pandey

Publish: Nov 08, 2019 14:24 PM | Updated: Nov 08, 2019 14:24 PM

Singrauli

जिला व पुलिस प्रशासन अलर्ट.....

सिंगरौली. अयोध्या मामले में सर्वोच्च न्यायालय से आने वाले निर्णय को लेकर जिला व पुलिस प्रशासन अलर्ट हो गया है। एक ओर जहां कलेक्टर केवीएस चौधरी ने जिलेभर में धारा 144 लागू कर दिया है। वहीं पुलिस अधीक्षक थानों में पहुंचकर नागरिकों के बीच शांति व्यवस्था बनाए रखने बैठक आयोजित कर रहे हैं। इसके साथ ही पुलिस बल शहरी क्षेत्र में फ्लैग मार्च का आयोजन कर यह शांति का संदेश दे रही है।

अयोध्या मामले में सर्वाेच्च न्यायालय का निर्णय इस महीने आने वाला है। इसके मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस अलर्ट हो गई है। थानों में शांति समिति की बैठक आयोजित कर लोगों को शांति व्यवस्था बनाए रखने के प्रति जागरूक करने में जुटी है। वहीं शहर में फ्लैग मार्च निकालकर कानून व्यवस्था चुस्त दुरुस्त होने का संदेश दे रही है। गौरतलब है कि शासन स्तर से निर्देश के मद्देनजर पुलिस अधीक्षक अभिजीत रंजन ने शांति व्यवस्था बनाए रखने जिलेे के थानों में पहुंचकर आम नागरिकों की उपस्थिति में बैठक आयोजित कर रहे हैं। बैठक में लोगों को समझाइश देते हुए शांति व्यवस्था कायम रखने कड़ी हिदायत दी जा रही है।

शहर में निकाले फ्लैग मार्च
मोरवा शहर में गुरुवार को पुलिस ने फ्लैग मार्च का आयोजन किया। शहर के विभिन्न गलियों में सैकड़ों की संख्या में पुलिस जवानों ने पैदल मार्च निकालकर लोगों को शांति व्यवस्था का संदेश दिया है। इस मौके पर एसडीओपी मोरवा डॉ. कृपाशंकर द्विवेदी व टीआई सहित पुलिस के जवान मौजूद रहे। राज्यों की सीमा पर भी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई है।

चितरंगी में भी हुई बैठक
एसडीओपी चितरंगी के मार्गदर्शन थाना प्रभारी उदय चंद्र करिहार के नेतृत्व में लोगों को सांप्रदायिक सौहार्द बनाए रखने, अफवाहों व धार्मिक उन्माद से संबंधित संदेशों से दूर रहने की समझाइश देने के लिए बैठक आयोजित की गई। साथ ही विभिन्न स्थानों का भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर समझाइस देने के लिए भिपेन्द्र पाठक व पुषेन्द्र धुर्वे सहित अन्य पुलिस कर्मी लगाए गए हैं।

[MORE_ADVERTISE1]