स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

थानों से लौट रहे फरियादी, दर्ज नहीं हो रही फरियाद, जानिए क्या वन रही वजह

Amit Pandey

Publish: Nov 18, 2019 12:44 PM | Updated: Nov 18, 2019 12:44 PM

Singrauli

एसपी कार्यालय पहुंच रहे लोग.....

सिंगरौली. थानों में शिकायत लेकर पहुंच रहे फरियादियों की फरियाद नहीं सुनी जा रही है। जिससे पीडि़त निराश होकर थानों से वापस लौट रहे हैं। स्थिति यह हो गई है कि फरियादी शिकायत लेकर एसपी की चौखट पर पहुंच रहे हैं। यह हाल जिला मुख्यालय स्थित कोतवाली के साथ बाकी के कई थानों का है। पीडि़त फरियाद लेकर पहुंचते हैं तो उन्हें धता पढ़ाकर बैरंग लौटा दिया जाता है। ताजा मामला कोतवाली थाना क्षेत्र का है।

कोतवाली क्षेत्र के तुलसी मार्ग बैढऩ निवासी फरियादी अमित कुमार सोनी पिता शिवबाबू सोनी ने शिकायत देते हुए बताया कि डिग्घी निवासी एक दबंग की ओर से धमकी दिया जा रहा है कि 46 लाख रुपए व मकान हमारे नाम कर दो। ऐसा नहीं करने पर जान से मारने की धमकी दिया है। पीडि़त ने मामले की शिकायत कोतवाली में की, जहां सुनवाई नहीं हुई तो वह फरियाद लेकर एसपी कार्यालय पहुंच गया।

एसपी कार्यालय का चक्कर लगाने को मजबूर
थाने से निराश होने वाले फरियादियों में एक अमित ही नहीं है। उनके जैसे कईफरियादी विभिन्न थानों से निराश होकर एसपी कार्यालय पहुंच रहे हैं। वहां वरिष्ठ अधिकारियों से राहत मिलने की उम्मीद उन्हें खींच लाती है। पुलिस अधीक्षक कार्यालय से ज्यादातर को राहत भी मिलती है, लेकिन इसमें जहां फरियादियों की जमकर फजीहत होती है। वहीं दूसरी ओर एसपी कार्यालय तक पहुंचने में किराया-भाड़ा सहित अन्य खर्च के लिए जेब भी ढीली करनी पड़ती है।

अपराधियों पर भी लगाम लगाने में असफल
एक ओर जहां थानों से फरियादी निराश लौट रहे हैं। वहीं दूसरी ओर पुलिस अपराधियों पर भी लगाम लगाने में असफल है। जिला मुख्यालय से चंद कदम की दूरी पर उर्ती में जम रही जुआ की फड़, रेत का अवैध खनन व परिवहन और माजन मोड़ से मनमाने तरीके से हो रहा कोल परिवहन पुलिस की नाकामी का जीता-जागता उदाहरण है। इससे जिले के वरिष्ठ अधिकारी भी मुंह नहीं मोड़ सकते हैं।

[MORE_ADVERTISE1]