स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आरओ प्लांट का बिल जमा नहीं होने पर कलेक्टर सख्त, कंपनियों को हिदायत

Ajit Shukla

Publish: Jan 21, 2020 23:25 PM | Updated: Jan 21, 2020 23:25 PM

Singrauli

बिजली बिल का मामला....

सिंगरौली. आरओ प्लांट के लंबित बिजली बिल के भुगतान के मामले में कलेक्टर ने सख्त निर्देश दिया है। नगर निगम अधिकारियों को कलेक्टर केवीएस चौधरी ने निर्देशित किया कि वह संबंधित कंपनियों से बात कर बकाया बिल जमा कराएं। कलेक्टर के इस निर्देश पर जहां नगर निगम के अधिकारी तत्काल सक्रिय हो गए। वहीं दूसरी बिजली विभाग के महकमे को बड़ी राहत मिली है।

शहरी क्षेत्र में शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के उद्देश्य से आरओ प्लांट स्थापित किए गए हैं। इन आरओ प्लांट में बिजली का २६ लाख रुपए बकाया है। जिसे कंपनियों के माध्यम से नगर निगम को जमा करना है। दरअसल इन आरओ प्लांट के संचालन की जिम्मेदारी कंपनियों को सौंपी गई है। बिजली के बिल की राशि आरओ प्लांट संचालित करने वाली कंपनी एनसीएल और एनटीपीसी को देना होता है, जो पिछले कईमहीनों से नहीं दिया गया।

फिलहाल कलेक्टर के निर्देश पर सक्रिय हुए नगर निगम अधिकारियों को कंपनियों को पत्र लिखकर बिजली बिल की राशि उपलब्ध कराने को कहा है। उम्मीद है कि इस महीने बिल की राशि बिजली विभाग के खाते में जमा कर दी जाएगी। बता दें कि लंबित बिल मामले को पत्रिका ने अपने दो अंकों में प्रमुखता से उठाया है, जिसे कलेक्टर ने गंभीरता से लिया है। कलेक्ट्रेट में सभागार में आयोजित बैठक के दौरान कलेक्टर ने इसके अलावा कई अन्य निर्देश भी जारी किए।

कलेक्टर की ओर से जारी निर्देश
- आर्थिक सहायता राशि के प्रकरणों का तत्काल निराकरण करें
- डीएमएफसेस्वीकृत कार्यों को जल्द से जल्द पूरा किया जाए।
- वनाधिकार आवेदनों के फीडिंग के कार्य में भी तेजी लाई जाए।
- मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के प्रकरण स्वीकृत किए जाएं।
- गिरदावली का भौतिक सत्यापन समय पर पूर्ण होना चाहिए।
- सीएम हेल्पलाइन व शिविर में प्राप्त आवेदनों को निराकृत करें।

[MORE_ADVERTISE1]