स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यूएस में सीखा स्वच्छता व जल संरक्षण का पाठ, लौटकर अपने घर में कर दिया लागू

Ajit Shukla

Publish: Jan 23, 2020 00:19 AM | Updated: Jan 23, 2020 00:19 AM

Singrauli

नायाब तरीका देख भोपाल से आए वैज्ञानिक रह गए दंग....

सिंगरौली. स्वच्छता और जल संरक्षण का तरीका यूएस में अल्पप्रवास के दौरान सीखा।लौटकर जब यहां घर आया तो वही सिस्टम यहां अपनाने की सोचा। कोशिश किया तो सफल रहा। ये कहना है घर के लॉन को खूबसूरत रूप देने और जल सरंक्षण के लिए नायाब तरीका अपनाने वाले नवजीवन विहार निवासी नंद किशोर का।घर से निकलने वाले पानी का सदुपयोग कर उन्होंने भोपाल से आए वैज्ञानिकों को भी चौका दिया है।

नवजीवन विहार स्थित अपने आवास में उन्होंने जल संरक्षण के लिए ऐसा सिस्टम लगाया है, जो न केवल बरसात का बल्कि घर से निकलने वाले पानी को सीधे भूगर्भ तक पहुंचा देता है। भूगर्भ में जाने वाला पानी पूरी तरह से साफ होता है। दरअसल नंद किशोर अग्रवाल ने घर की छत व घर से निकलने वाले पानी के लिए लगाए गए पाइप लाइन को उस बोरवेल से जोड़ दिया है, जो सूख गया है।

नतीजा छत व घर से निकलने वाला पानी बोरवेल के जरिए सीधे भूगर्भ में पहुंच जाता है। इसमें कमाल की एक और बात यह है कि बोरवेल में जाने वाला पानी एकदम साफ होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि उन्होंने पाइप लाइन में एक उच्च तकनीक वाले जल शोधित यंत्र लगा दिया है।यह यंत्र पानी की गंदगी को छान देता है। जिससे बोरवेल में जाने वाला पानी एकदम स्वच्छ होता है।

स्वचालित स्प्रिंकलर से करते हैं सिंचाई
घर के लॉन में लगाए गए बागीचे की सिंचाई के लिए उन्होंने स्वचालित स्प्रिंकलर लगा रखा है।घर से निकलने वाले पानी को जलशोधित यंत्र से स्वच्छ कर स्प्रिंकलर से बगीचे की सिंचाई होती है। इससे घर से निकले पानी का बेहतर सदुपयोग होता है। नंद किशोर बताते हैं कि यह तकनीक उन्होंने यूएस में उनके बेटे के यहां प्रवास के दौरान लोगों के घरों में देखा।प्रभावित हुए और यहां आकर अपनाया।

गणतंत्र दिवस पर होंगे सम्मानित
स्वच्छता और जल संरक्षण के लिए नगर निगम की ओर से गणत्रंत दिवस के मौके पर नंद किशोर से सम्मानित किया जाएगा। आयुक्त शिवेंद्र सिंह के मुताबिक गणतंत्र दिवस के मौके पर ध्वजारोहण के बाद स्वच्छता में उत्कृष्ट कार्य करने वालों को सम्मानित किए जाने का निर्णय लिया गया है।कलेक्टर केवीएस चौधरी खुद अपने हाथों से स्वच्छता में उत्कृष्ट कार्य करने वालों को सम्मानित करेंगे।

[MORE_ADVERTISE1]