स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मप्र. प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने एस्सार पर लगाया 10 करोड़ रुपए का जुर्माना

Ajit Shukla

Publish: Aug 20, 2019 13:06 PM | Updated: Aug 20, 2019 13:06 PM

Singrauli

ऐश डैम टूटने से दो गांवों में मची तबाही का मामला....

सिंगरौली. ऐश डैम टूटने से जिले के कर्सुआलाल व खैराही गांव में मची तबाही के मामले में मप्र. प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने एस्सार पॉवर पर क्षतिपूर्ति के मद्देनजर 10 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है। साथ ही प्रभावित गांवों को प्रदूषण मुक्त बनाने का निर्देश दिया है।

बोर्ड के अधिकारियों ने कंपनी को गांव की सफाई के बावत 15 दिन का मौका दिया है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों के मुताबिक ऐश डैम टूटने से गांव का खान-पान सब प्रदूषित हो गया है। खेतों में ऐश (राख) जमने के साथ ही घरों और पेयजल स्रोतों में भी पूरी तरह से ऐश फैल गया है।

ऐसे में जब तक गांव के हर घर की व पेयजल स्रोतों की सफाई नहीं कराई जाती है, ग्रामीणों का खान-पान सब प्रदूषित रहेगा। इससे मद्देनजर बोर्ड की ओर कंपनी को निर्देशित किया गया है कि वह गांव के हर घर व सार्वजनिक स्थलों की सफाई कराने के साथ पेयजल स्रोत को भी प्रदूषण से मुक्त कराएं।

बोर्ड के अधिकारिक सूत्रों के मुताबिक कंपनी पर पर्यावरणीय क्षति की पूर्ति के लिए 10 करोड़ रुपए की राशि तत्काल जमा करने को कहा है। क्षतिपूर्ति की राशि और बढ़ोत्तरी की संभावना भी जताई गई है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से कंपनी को जारी निर्देश एनजीटी में अधिवक्ता अश्वनी दुबे की ओर से दायर याचिका में की गई मांग से संबंधित है।

फिलहाल इस मामले में कंपनी के जनसंपर्क अधिकारी सुधांशु चतुर्वेदी का कहना है कि बोर्ड के निर्देश को लेकर अभी कंपनी के अधिकारियों के बीच चर्चा चल रही है। आगे क्या करना है एक दो दिन में तय कर लिया जाएगा। प्रबंधन के निर्देश पर ही आगे की कार्यवाही की जाएगी।