स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अवैध रेत भंडारण से 27 सौ से अधिक घन मीटर रेत जब्त, कारोबारियों में मचा हडक़ंप

Amit Pandey

Publish: Sep 21, 2019 16:03 PM | Updated: Sep 21, 2019 16:03 PM

Singrauli

खनिज व पुलिस की संयुक्त कार्रवाई......

सिंगरौली. खनिज व पुलिस की संयुक्त कार्रवाई से रेत करोबारियों में हडक़ंप मच गया है। शुक्रवार की चितरंगी सोन नदी स्थित पांच स्थानों पर कार्रवाई करते हुए खनिज व पुलिस की टीम ने २७३४ घन मीटर अवैध रेत का भंडारण जब्त कर लिया है। कलेक्टर व एसपी के निर्देश पर हरकत में आए खनिज व पुलिस अमला की संयुक्त टीम ने चितरंगी के देवरा, नौडिहवा, पिपरझर में अवैध रेत भंडारण के ठिकानों पर अचानक दबिश दिया। जहां टीम को देखकर कारोबारियों के होश उड़ गए।

वहीं इस दौरान उत्खनन व परिवहन को रोक दिया गया था। अलग-अलग स्थानों पर टीम ने छापामार कार्रवाई करते हुए भारी मात्रा में अवैध रेत जब्त कर लिया है। रेत माफियाओं व भूमि स्वामियों के खिलाफ विभाग की ओर से कठोर कार्रवाई की जा रही है। यहां बतादें कि खनिज अधिकारी एके राय अपने टीम के साथ अचानक चितरंगी सोन नदी से सटे इलाकों में दबिश देकर कार्रवाई को अंजाम दिया है।

लंबे समय बाद नींद से जागा महकमा
हैरान करने वाली बात यह है कि चितरंगी इलाके में रेत का अवैध उत्खनन व परिवहन का सिलसिला लंबे समय से जारी है। इस पर कार्रवाई करने से खनिज विभाग कतरा रहा था लेकिन अवैध उत्खनन व परिवहन को गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर ने खनिज अधिकारी को कार्रवाई करने का सख्त निर्देश दिया। इसके बाद हरकत में आया खनिज, राजस्व व पुलिस विभाग की संयुक्त टीम ने बड़ी मात्रा में रेत का भंडारण जब्त करते हुए कार्रवाई किया है।

लगातार कार्रवाई करने की जरूरत
जानकारी के लिए बताते चलेंकि चितरंगी इलाके में खनिज विभाग को लगातार कार्रवाई करने की जरूरत हैै। एक दिन की कार्रवाई में अवैध उत्खनन व परिवहन पर रो नहीं लग सकता है। इसलिए महकमें को अलर्ट होकर कार्रवाई का सिलसिला जारी रखना होगा क्योंकि चितरंगी सोन नदी से चौबीस घंटे रेत का अवैध उत्खनन व परिवहन हो रहा है। चितरंगी की रेत उत्तरप्रदेश पहुंच रही है।

मिल रही थी शिकायतें
चितरंगी में हो रहे अवैध उत्खनन व परिवहन की शिकायतें लगातार कलेक्टर से की जा रही थी। लगातार हो शिकायतों के मद्देनजर संबंधित विभाग को जांच करने का निर्देश दिया गया। यदि अवैध उत्खनन व परिवहन किया जा रहा है तो रेत कारोबारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश कलेक्टर ने दिया था।