स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

विधानसभा में बोले विधायक....... सबसे अधिक राजस्व देने वाला जिला झेल रहा प्रदूषण का दंश

Ajit Shukla

Publish: Jul 19, 2019 22:03 PM | Updated: Jul 19, 2019 22:03 PM

Singrauli

जनता की उम्मीद को पूरा करने की दी नसीहत....

सिंगरौली. प्रदेश को सबसे ज्यादा राजस्व देने वाला जिला सिंगरौली है। प्रदेश को भरपूर बिजली देने में भी सहायक है। रहवासियों व विस्थापितों के लिए के दो सडक़ें प्रस्तावित थी। उन्हें भी रोक दिया गया। अभी तक उसकी निविदा नहीं लग पाई है। सिंगरौली विधानसभा क्षेत्र के भाजपा विधायक रामलल्लू वैश्य ने विधानसभा में ऊर्जाधानी की दशा को बयां करते हुए यह बात कही है।

सरकार की गतिविधि पर टिप्पणी करते हुए विधायक ने कहा कि जनता ने आपको कार्य करने के लिए वोट दिया है। फिर से पहले जैसा रहेगा तो कैसे चलेगा। विधायक ने जिले में पर्यावरण प्रदूषण के लिए नीति बनाने की मांग की। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि जिले में कोल परिवहन के लिए अलग से सडक़ नहीं है।

जिससे लोगों को प्रदूषण का दंश झेलना पड़ रहा है। दुर्घटनाओं की संख्या में भी तेजी से इजाफा हो रहा है। उम्मीद करते हैं कि कोयला परिवहन के लिए अलग से सडक़ मार्ग बनाया जाएगा। इसके लिए फंड की व्यवस्था करेंगे। बिना किसी भेदभाव के जनता से जुड़े विकास कार्यों को पूरा किया जाएगा।

सिंगरौली महोत्सव के आयोजन की मांग
सीधी जिले से विधायक केदारनाथ शुक्ला ने सिंगरौली महोत्सव का मुद्दा उठाया है। विधानसभा उन्होंने कहा कि पूर्व में सीधी, सिंगरौली व रीवा में क्रमश: सीधी महोत्सव, सिंगरौली महोत्सव व विंध्य महोत्सव का आयोजन होता रहा है, लेकिन अब आयोजन पर विराम लग गया है। उन्होंने सीधी व सिंगरौली में महोत्सव का आयोजन कराए जाने की मांग की है।

हाइवे को बजट में शामिल करने की मांग
रीवा जिले से विधायक गिरीश गौतम ने बजट में सीधी-सिंगरौली राजमार्ग के निर्माण कार्य को शामिल किए जाने की बात कही है। हाइवे का मुद्दा उठाने के पीछे उनका यह तर्क रहा है कि राजमार्ग का निर्माण पूरा नहीं होने से कई जिले के यात्रियों को परेशानी हो रही है। उन्होंने रीवा से हनुमना हाइवे के निर्माण में गुणवत्ता को नजरअंदाज किए जाने का मुद्दा भी उठाया।