स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अधिकार पाने व समस्याओं के समाधान के लिए जुटे विस्थापित

Ajit Shukla

Publish: Aug 12, 2019 21:18 PM | Updated: Aug 12, 2019 21:18 PM

Singrauli

एसडीएम की सुनवाई तक इंतजार करने का लिया निर्णय....

सिंगरौली. वंचित अधिकारों को प्राप्त करने और कंपनी से लेकर कॉलोनी तक की समस्याओं के समाधान को लेकर रविवार को एक सौ से अधिक की संख्या में विस्थापित एकत्र हुए हैं। ओडग़ड़ी गांव में आयोजित बैठक के दौरान हिंडालको महान के विस्थापितों व श्रमिकों के बीच एमडीएम की सुनवाई तक इंतजार करने का निर्णय लिया गया।

महान विस्थापित एवंश्रमिक संघ के नेतृत्व में आयोजित बैठक के दौरान सामूहिक रूप से एसडीएम की ओर से 20 अगस्त को होने वाली सुनवाई भरोसा जताया गया। सभी ने एक सुर में कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि एसडीएम की बरगवां थाने में 20 अगस्त को होने वाली सुनवाई में उनकी समस्याओं का समाधान किया जाएगा। सभी ने यह भी कहा कि सुनवाई में उनकी समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो इसके बाद वह सडक़ पर उतर कर उग्र आंदोलन करने को बाध्य होंगे।

वेतन समझौते को थोपे जाने से नाराजगी
कंपनी के श्रमिकों ने बैठक में वेतन समझौते को जबरन थोपे जाने पर भी रोष जाहिर किया। वेतन समझौते को लेकर तत्काल कामबंद कर आंदोलन शुरू करने की मांग की गई, लेकिन संघ महामंत्री नागेश्वर प्रसाद जायसवाल व अध्यक्ष नारायणदास ने श्रमिकों को समझाइश देते हुए कहा कि आठ अगस्त को फिर से श्रमायुक्त कार्यालय में आवेदन देकर मामले की सुनवाई की अपील की गई है। वहां से रास्ता नहीं निकलता है तो कामबंद हड़ताल भी की जाएगी।

कॉलोनी की समस्या का मुद्दा भी उठा
बैठक के दौरान कई विस्थापितों ने कालोनी की समस्या का भी मुद्दा उठाया। खासतौर पर बच्चों की प्रभावित हो रही पढ़ाई, स्वास्थ्य केंद्र का पांच बजे बंद हो जाना और रात के वक्त सडक़ों पर अंधेरा रहने जैसे कई समस्याओं का जिक्र करते हुए विस्थापितों ने पदाधिकारियों से समाधान कराने की अपील की। पदाधिकारियों ने उन्हें 20 अगस्त की सुनवाई तक इंतजार करने की गुजारिश की। कहा कि उसके बाद भी समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो सभी मिलकर सडक़ पर उतरेंगे।