स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

खानापूर्ति तक सिमटी बाल शिक्षा केन्द्र की कवायद, नौनिहालों को कागज पर मुहैया हो रही सुविधाएं

Amit Pandey

Publish: Sep 18, 2019 13:13 PM | Updated: Sep 18, 2019 13:13 PM

Singrauli

विभिन्न गतिविधियों पर आधारित है जिम्मेदारी.....

सिंगरौली. नौनिहालों को बेहतर शिक्षा, खेल की गतिविधियां व पोषणयुक्त भोजन सहित अन्य व्यवस्थाओं के मद्देनजर जिले के तीन आंगनबाड़ी केन्द्रों को बाल शिक्षा केन्द्र का दर्जा मिला है। यह बाल शिक्षा केन्द्र जिले के तीनों विकासखंड में एक-एक बनाए गए हैं, जहां मासूम बच्चों के विकास के लिए तमाम गतिविधियों का संचालन किया जाना है।

मगर, हकीकत यह है कि इन केन्द्रों पर गाइडलाइन का पालन नहीं हो रहा है। कहीं व्यवस्थाओं का अभाव है तो कहीं गतिविधियों के बारे में कार्यकर्ताओं को पता ही नहीं है। बतादें कि बाल शिक्षा केन्द्रों में गतिविधियों की कवायद खानापूर्ति तक सीमित है। इस ओर जिम्मेदारों की नजरें इनायत नहीं हो रही है। सबसे खराब स्थिति चितरंगी के रजदहा व देवसर ब्लाक के नौढिय़ा क्रमांक-4की है।

यहां बाल शिक्षा केन्द्र तो बना दिया है लेकिन बच्चों को बाल शिक्षा केन्द्र के तहत सुविधाएं मिल रही हैं या नहीं। इसकी जानकारी अफसरों के पास नहीं हैं। हैरान करने वाली बात यह है कि चितरंगी ब्लाक के रजदहा केन्द्र में बिजली की सुविधा तक नहीं है।

28 अगस्त से हुई है शुरुआत
सरकार की मंशानुसार आंगनबाड़ी केन्द्रों को मॉडल बनाने के लिए बाल शिक्षा केन्द्र के रूप में विकसित किया गया हैै। इसकी शुरूआत 28 अगस्त को हुई है। प्रदेशभर में 313 केन्द्र की स्थापना हुई। इसी तरह जिले में तीनो ब्लाक में एक-एक बाल शिक्षा केन्द्र बनाए गए।

कार्यकर्ताओं का हुआ है प्रशिक्षण
मॉडल के तर्ज पर बाल शिक्षा केन्द्र में बच्चों को बेहतर शिक्षा देने के लिए संबंधित कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण दिया गया है। संभागस्तर पर आयोजित प्रशिक्षण में ये कार्यकर्ताएं केन्द्र का संचालन करने के लिए बहुत कुछ सीख कर वापस आई हैं। इसके बावजूद बच्चों के गतिविधियों व शिक्षा में लापरवाही बरती जा रही है।

ये मिलनी चाहिए सुविधाएं:
- बच्चों को बेहतर शिक्षा
- टेबल-बेंच की व्यवस्था
- खेल की तमाम गतिविधियों का आयोजन
- बिजली की सुविधा
- केन्द्र के बच्चे यूनिफार्म में होने चाहिए
- बेहतर पोषक आहार की सुविधा

ये हैं तीन बाल शिक्षा केन्द्र
ब्लाक केन्द्र
बैढऩ डिग्घी क्रमांक-2
देवसर नौढिय़ा क्रमांक-4
चितरंगी-1 रजदहा

वर्जन:-
जिले में तीन बाल शिक्षा केन्द्रों का संचालन हो रहा है। कार्यकर्ताओं की ओर से गतिविधियों में लापरवाही बरती जाएगी तो जांच कराकर संबंधित के खिलाफ कार्रवाई करेंगे। रजदहा केन्द्र में बिजली की व्यवस्था कराई जाएगी।
प्रवेश मिश्रा, जिला परियोजना अधिकारी, महिला एवं बाल विकास सिंगरौली।