स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नदी में डूबे युवक का शव दूसरे दिन मिला, गोताखोर करते रहे मशक्कत

Amit Pandey

Publish: Sep 14, 2019 12:33 PM | Updated: Sep 14, 2019 12:33 PM

Singrauli

मूर्ति विसर्जन के दौरान नदी में डूबे थे दो युवक.....

सिंगरौली. मूर्ति विसर्जन के दौरान मयार नदी में डूबे युवकों में दूसरे युवक का शव गोताखोरों ने शुक्रवार को बरामद कर लिया है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया। जानकारी के मुताबिक गुरुवार की शाम मूर्ति विसर्जन के दौरान गहरे पानी में जाने से निगाही एमपीईबी कॉलोनी निवासी पवन सिंह पिता अवधराज सिंह व हृदयेश सिंह पिता केपी सिंह बह गए थे। मौके पर पहुंची पुलिस गोताखोरों की मदद से पवन सिंह के शव को देर शाम बरामद कर लिया था।

वहीं रात हो जाने के कारण हृदयेश की तलाश शुक्रवार को गोताखोरों ने शुरू कर दी। घंटो तक चले रेस्क्यू ऑपरेशन में दोपहर हृदयेश की लाश नदी से बरामद कर लिया। इसके बाद पंचनामा कर पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया है। बताया गया है कि नदी में तेज बहाव व गहरे पानी में जाने से दोनो युवक की मौत हुई है।

घर में मचा कोहराम
घटना के बाद से दोनों के घर में कोहराम मचा हुआ है। दोनों युवक गुरूवार को बिलौंजी निवासी रिश्तेदार राजकुमार पटेल के यहां आए थे। पटेल परिवार के साथ दोनों श्रीगणेश प्रतिमा को लेकर कोतवाली क्षेत्र के नजदीकी मयार नदी में विसर्जन करने गए थे। जहां विसर्जन के पश्चात गहरे पानी में डूबने से मौत हो गई। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है। परिजन बेहोशी हालत में पड़े हैं।

चिन्हित स्थान से अलग करने गए थे विसर्जन
पुलिस ने बताया कि गणेश प्रतिमा विसर्जन करने के लिए सेमराबाबा, तेलगवां, कचनी, व काचन डैम चिन्हित किया गया था। इन स्थानों को छोडक़र मयार नदी में प्रतिमा विसर्जित करने युवक अपने साथियोंं के साथ चले गए। जहां नदी में पानी का तेज बहाव व गहरे पानी जाने से दोनो की मौत हुई है। दोनों के घर का पूरा माहौल गमगीन हो गया।