स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

उत्पीडऩ के खिलाफ भाजपाइयों ने दिखाया रोष, पार्टी कार्यकर्ताओं को प्रताडऩा व अफसरों पर अंकुश की मांग

Amit Pandey

Publish: Jan 25, 2020 15:47 PM | Updated: Jan 25, 2020 15:47 PM

Singrauli

जिलाध्यक्ष व विधायकों के नेतृत्व में सौंपा ज्ञापन...

सिंगरौली. कांग्रेस की सरकार लोकतंत्र की हत्या कर रही है। समूचे प्रदेश में अवैध कारोबारियों का बोलबाला है। साथ ही अधिकारियों को मोहरा बनाया जा रहा है। अतिक्रमण के नाम पर कांग्रेस की सरकार बेजा वसूली कर रही है। जनता को झूठी दिलासा देकर कर्ज माफी व अन्य कई वादों को पूरा करने में नाथ की सरकार नाकाम रही है। उक्त बातें कलेक्ट्रेट के सामने भाजपाइयों ने विरोध प्रदर्शन करते हुए बयां किया है। प्रदेश में जब से कांग्रेस की सरकार आई है तब से रेत के मामले में लूट मची हुई है। वहीं मादक पदार्थ के साथ कोयला, कबाड़ व डीजल चोरी का अवैध कोराबार खूब फल फूल रहा है। जिला भाजपा ने पार्टी कार्यकर्ताओं को मिल रही कथित प्रताडऩा व अधिकारियों के मनमाने व्यवहार के खिलाफ यहां जिला मुख्यालय पर शुक्रवार को विरोध का बिगुल फूंका। बैढऩ में कलेक्टर कार्यालय के निकट सैकड़ों की संख्या में पार्टीकार्यकर्ता, पदाधिकारियों व विधायक सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने नारेबाजी करते हुए राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन एसडीएम को दिया।

जिलाध्यक्ष वीरेंद्र गोयल के नेतृत्व में दिए गए ज्ञापन में कार्यकर्ताओं का उत्पीडऩ व अधिकारियों का मनमाना व्यवहार नहीं रूकने पर आंदोलन की चेतावनी दी गई है। ज्ञापन देने वालों में सिंगरौली विधायक रामलल्लू वैश्य, देवसर सुभाष वर्मा व चितरंगी अमर सिंह, पूर्व महापौर प्रेमवती खैरवार, पूर्व महापौर कटनी शंशाक श्रीवास्तव, पूर्व भाजयुमो जिलाध्यक्ष विनोद चौबे, भारतेंदु पाण्डेय सहित भाजपा के सैकड़ों पदाधिकारी व कार्यकर्ता शामिल थे। पार्टी की ओर से इससे पहले कलेक्टर कार्यालय के निकट सभा की गई। भाजपाईयों के प्रदर्शन के दृष्टिगत दिन भर कलेक्टर कार्यालय के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा। चौकसी के चलते सभा व प्रदर्शन के दौरान कलेक्टर कार्यालय के दोनों गेट बंद रखे गए।

चौकी प्रभारी की आड़ में मंत्री पर बोला हमला
भाजपाईयों ने प्रदर्शन के दौरान सीधी के मंत्री पर भी हमला करने से नहीं चूके। इसके लिए जयंत पुलिस का नाम लिया।चौकी प्रभारी पर गंभीर आरोप लगाते हुए भाजपाइयों ने कहा कि जयंत की खदानों से हर रोज लाखों रुपए की चोरियां हो रही है। चौकी प्रभारी खुद को मंत्री का रिश्तेदार बताकर कोयला, कबाड़ व डीजल की चोरी करा रहे हैं। इसमें पुलिस के आला अधिकारी भी शामिल हैं। इन पर रोक लगाने के लिए किसी की हिम्मत नहीं है। क्योंकि मंत्री का रिश्तेदार बताने वाले चौकी प्रभारी पहले जयंत चौकी में बतौर प्रभारी थे, इसके बाद यहां से संभाग के अन्य जिले में स्थानांतरण हो गया था। पुन: वहां से तबादला कराकर जयंत चौकी में पदस्थ हो गए हैं।

झोली लेकर भीख मांग रहे कांग्रेसी
भाजयुमो के पूर्व जिलाध्यक्ष विनोद चौबे ने पंचायत व ग्रामीण विकास मंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि मंत्री के भाई प्रदेश के जिलों में झोली लेकर भीख मांग रहे हैं। उन्हें ऐसा महसूस हो गया है कि आगे फिर मौका नहीं मिलेगा। एक ओर प्रदेश में विकास का दावा करने वाली कांग्रेस की सरकार जनता को लूट रही है। वहीं दूसरी ओर आला अधिकारियों को अवैध काम करने के लिए मोहरा बनाया जा रहा है।वर्तमान में अवैध कारोबार चरम पर है।

[MORE_ADVERTISE1]