स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हम न आते तो तरक्की इस कदर न बोल पाती....

Ajit Shukla

Publish: Dec 12, 2019 21:51 PM | Updated: Dec 12, 2019 21:51 PM

Singrauli

कुमार विश्वास ने जीता श्रोताओं का दिल

सिंगरौली. चिर-परिचित अंदाज में जैसे ही कुमार विश्वास ने माइक संभाला पूरा का पूरा पंडाल तालियों की गडग़ड़ाहट से गूंज उठा। बात एनसीएल की ओर से आयोजित अखिल भारतीय कवि सम्मेलन की कर रहे हैं।

खडिय़ा क्षेत्र के डीएवी स्कूल ग्राउंड में आयोजित कवि सम्मेलन में युवाओं के दिलों पर राज करने वाले डॉ. कुमार विश्वास ने काव्य पाठ के जरिए न केवल श्रोताओं का दिल जीत लिया।बल्कि कोयल श्रम साधकों को भी अपनी रचना के जरिए रेखांकित किया। इस मौके पर उपस्थित दूसरे कवियों ने भी श्रोताओं को अपनी रचना से मंत्रमुग्ध कर दिया।

देर शाम आयोजित कवि सम्मेलन में डॉ.विश्वास ने ‘हम वहीं जो रोशनी रखते हैं सबके चौखटों पर....’ और ‘हम न आते तो तरक्की इस कदर ना बोल पाती....’ जैसी रचना के जरिए श्रोताओं की खूब ताली बटोरी।

मशहूर कवियत्री अंकिता सिंह ने ‘अकेले बैठ कर तुमको कभी जब याद करती हूं...’ व कवि रमेश मुस्कान ने ‘धन्य हो कलाम भाई....’ हास्य की कविता श्रोताओं का दिल जीता।कवि तेज नारायण शर्मा ने अपने जोरदार व्यंग से कवि सम्मेलन में आए हुए लोगों को ठहाके लगाने पर मजबूर किया।

सीएमडी ने किया शुभारंभ
काव्य संध्या का बतौर मुख्य अतिथि एनसीएल के सीएमडी प्रभात कुमार सिन्हा ने कवियों ने साथ दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ किया।इस मौके निदेशक तकनीकी संचालन गुणाधर पाण्डेय, एनसीएल जेसीसी सदस्य मुन्नी लाल यादव, अशोक कुमार दुबे सीएमओएआई के सर्वेश सिंह, कृति महिला मंडल अध्यक्षा संगीता सिन्हा, उपाध्यक्षा प्रतिमा पांडेय, नीलू ठाकुर बतौर विशिष्ट अतिथि उपस्थित रहीं।

[MORE_ADVERTISE1]