स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आखिर ऐसा क्या हुआ कि खेल मंत्री को रास्ते ही वापस लौटना पड़ा..

Bhagwan Sahai Yadav

Publish: Sep 11, 2019 17:58 PM | Updated: Sep 11, 2019 17:58 PM

Sikar

सीकर. थोरासी के पीर बाबा मेले की खेल प्रतियोगिता में राजनीतिक खेल हो गया। यहां तीन दिवसीय मेले में दूसरे दिन फुटबॉल प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह में खेल मंत्री अशोक चांदना मुख्य अतिथि थे

सीकर. थोरासी के पीर बाबा मेले की खेल प्रतियोगिता में राजनीतिक खेल हो गया। यहां तीन दिवसीय मेले में दूसरे दिन फुटबॉल प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह में खेल मंत्री अशोक चांदना मुख्य अतिथि थे। जो कार्यक्रम स्थल से चंद किलोमीटर पहले ही वापस लौट गए। इसकी वजह एनवक्त पर किसी जरूरी बैठक के लिए फोन आना बताया गया। लेकिन, मंत्री के नहीं पहुंचने पर मेला आयोजकों में आक्रोश छा गया। जो उद्घाटन समारोह पूरी तैयारियों के साथ कुछ देर में मंत्री के पहुंचने की बार-बार घोषणाएं करते रहे। मामले में पूर्व सरपंच ने इसे स्थानीय राजनेताओं की राजनीतिक साजिश तक करार दे दिया।

पहले आने का फिर मंत्री के लौटने का

उद्घाटन समारोह से पहले मंत्री अशोक चांदना का मेले में पहुंचने का जमकर प्रचार किया गया। सोशल मीडिया पर प्रचार के साथ गांव में पोस्टर और बड़े होर्डिंग्ज भी लगाए गए। लेकिन, मंत्री के नहीं पहुंचने पर ग्रामीणों को खासी निराशा हाथ लगी। उन्होंने सोशल मीडिया पर मंत्री का उल्टा प्रचार शुरू कर दिया। जिसमें मंत्री को सीकर के खिलाडिय़ों की भावना पर कुठाराघात करने वाला बताया गया। क्षेत्रीय नेताओं के दबाव में वापस लौटने की बात भी लिखी।