स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चोरी के रुपयों को ब्याज पर देते थे चोर

Vikram Singh Solanki

Publish: Nov 12, 2019 12:36 PM | Updated: Nov 12, 2019 12:36 PM

Sikar

सीकर. टुकड़ा गैंग के दोनों शातिर बदमाश ढाणी में ही लोगों को चोरी के रुपयों को उधार देने का काम करते थे। वे रुपए देकर उनसे ब्याज भी वसूलते थे। पुलिस ने टुकड़ा गैंग के सदस्य प्रहलाद व राजू गुर्जर को कोर्ट में पेश कर दो दिन के रिमांड पर लिया है।

सीकर. टुकड़ा गैंग के दोनों शातिर बदमाश ढाणी में ही लोगों को चोरी के रुपयों को उधार देने का काम करते थे। वे रुपए देकर उनसे ब्याज भी वसूलते थे। पुलिस ने टुकड़ा गैंग के सदस्य प्रहलाद व राजू गुर्जर को कोर्ट में पेश कर दो दिन के रिमांड पर लिया है। पुलिस ने प्रहलात कुमावत उर्फ आनंदपाल पुत्र कालूराम निवासी कुमावतों का मौहल्ला पलसाना, रानोली व राजेंद्र उर्फ राजू गुर्जर पुत्र रामेश्वरलाल निवासी सुंदरपुरा, रानोली को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने दोनों को हर्ष की ढाणी से गिरफ्तार किया था। दोनों सूने मकानों में चोरी के बाद मिले रुपयों को गांव में ही लोगों को ब्याज पर देते थे। वह वन विभाग में अधिकारी बन कर रहते थे। पुलिस ने चार दिन पहले उनके किराए के मकान पर दबिश दी तो वे भाग गए। पुलिस ने लोगों की मदद से राजू को पकड़ लिया। जांच में सामने आया है कि प्रहलाद ने गांव में किराणे व सब्जी की दुकान कर रखी है। किराणे की दुकानों में चोरी के बाद वह सामान अपनी दुकान में ले जाता था। दुकान पर ही किराणे का सामान बेच देता था। वह रात को राजू के साथ शहर में चोरी की वारदात करता था। इसके बाद सुबह मंडी से सब्जी लेकर दुकान पर चला जाता था। दिन में दुकान पर सब्जी व किराणे का सामान बेचता था। रात को दोनों दोबारा से शहर में घूम कर सूने मकानों की रेकी करते थे और चोरी की वारदात करते थे। कमरे में राजू चोरी की वारदात के बाद दिन में सो जाता था। उसके बाद सुबह वह चला जाता था।

[MORE_ADVERTISE1]