स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

प्रदेश में 52 हजार किमी सड़कें क्षतिग्रस्त

Puran Singh Shekhawat

Publish: Nov 11, 2019 17:47 PM | Updated: Nov 11, 2019 17:47 PM

Sikar

रिपेयर के लिए 300 करोड़ की जरूरत
सीकर में 40 करोड की लागत वाली 215 सड़कें हुई खराब

सीकर. प्रदेश में इस बार भारी बारिश और बाढ़ से 52 हजार किलोमीटर की सड़कें पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई हैं। इन सड़कों की मरम्मत में 300 करोड़ रुपए से ज्यादा का खर्चा होने का अनुमान है। सार्वजनिक निर्माण विभाग के अफसर दावा कर रहे हैं कि सड़कों की मरम्मत के लिए जितने बजट की जरूरत है, उतना बजट विभाग के पास है। हालांकि विभाग मौजूदा बजट से सिर्फ क्षतिग्रस्त सड़कों का पैचवर्क करेगा। वहीं विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव वीनू गुप्ता ने 30 नवंबर तक सभी क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत के निर्देश दिए हैं।
विभाग से मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश के 28 जिलों में इस बार भारी बारिश हुई या कई दिनों तक बाढ़ जैसे हालात रहे। बारिश का दौर थमा तो 90 फीसदी विधायकों ने उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट को पत्र लिखकर क्षतिग्रस्त सड़कों की स्थिति सुधारने का आग्रह किया। स्थानीय लोग लगातार सड़कों की हालत ठीक करने कर दबावा बना रहे थे। पायलट के निर्देश के बाद विभाग के अफसर सक्रिय हुए बारिश और बाढ़ से खराब हुई सड़कों का पूरे प्रदेश में जायजा लिया और रिपोर्ट तैयार की।

जिले की 215 सड़के खराब

सीकर जिले में बारिश के सीजन के दौरान अधिकांश सड़के क्षतिग्रस्त हो गई। हाल में बनी कई सड़कों में एक दो फिट तक गहरे गडढ़े हो गए थे। सितम्बर माह में सार्वजनिक निर्माण विभाग के एक सर्वे के अनुसार जिले में बारिश के कारण 215 सड़कों को क्षतिग्रस्त माना गया और इनमें कई सड़कों को बनाने के लिए ठेकेदार को पाबंद किया गया।

[MORE_ADVERTISE1]