स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सरकार की शह पर हो रहा ये अवैध कारोबार!

Vinod Singh Chouhan

Publish: Aug 20, 2019 17:05 PM | Updated: Aug 20, 2019 17:05 PM

Sikar

अधिकारियों व राजनेताओं की है मिलीभगत से चल रहा है करोबार खनन विभाग, नहीं कर रहा कार्रवाई
दिनभर शहर की सडक़ों पर दौड़ रहे ओवरलोड डम्पर
जीर की चौकी से नारेहड़ा तक का सफर चुनौतियों से भरा
एक तरफ सडक़ पर बन रहे है धोरे


नीमकाथाना. क्षेत्र में खान विभाग व प्रशासन की मिलीभगत से अवैध खनन का कारोबार फल-फूल रहा है। खनन माफियों की विभागों में सेंधमारी होने की वजह से अधिकारी मौके पर जाने से कतराते हैं। पूरे क्षेत्र में अब तक सरकार को खनन माफिया करोड़ों के राजस्व का चूना लगा चुके हैं। आलम ये है कि खातेदारी एवं सवायचक जमीनों पर धड़ल्लें से खनन किया जा रहा हैं। खननकर्ताओं की राजनीतिक पहुंच ऐसी है कि दिनभर सडक़ों पर दौड़ रहे ओवरलोड डम्फरों पर अधिकारी चाहकर भी कार्रवाही नहीं कर पाते हैं। एेसे में इलाके की सडक़ें पूरी तरह से छलनी हो रही है। पाटनवाटी क्षेत्र के अधिकांश गांवों में इस प्रकार का अवैध खनन का करोबार देखा जा सकता है। यह इलाका हरियाणा क्षेत्र से सटा होने के कारण यहां का खनिज दूसरे राज्य में धड़ल्ले से ले जाया जा रहा हैं। जिसका सीधा असर राजस्व पर पड़ रहा हैं।
यूं होता है अवैध खनन
खनन माफिया अपना अवैध खनन का कारोबार जमाने के लिए पहले स्थानीय लोगों के साथ मिलकर खातेदारी जमीन के साथ लगने वाली सिवायचक जगहों की तलाश करते हैं। विभाग से सांठगांठ कर संरक्षण प्राप्त करता है और धड़ल्ले से अवैध खनन का कारोबार शुरू कर देता है। जब कभी कार्रवाही की बारी आती है तो अधिकारी राजनीतिक दबाव में छोटी-मोटी कार्रवाई कर खानापूर्ति कर लेते हैं।
लीज से बाहर होता है खनन
आसपास के क्षेत्र में आंवटित लीज से बाहर खनन किया जा रहा हैं। जानकारी अनुसार खान विभाग इनके लीज एरिए की कभी जांच नहीं करता हैं। इसके अलावा क्षेत्र में कई बंद खाने चोरी-छिपे बिना रवन्ना कटे चल रही हैं।
पैंथर रिजर्व में अवैध खनन रोड़ा
अवैध खनन से संबंधित विभाग को मोटी कमाई होने के कारण क्षेत्र पैंथर रिजर्व से वंचित हैं। अधिकारियों की अनदेखी व राजनीतिक दबाव के चलते यह क्षेत्र पिछलें कई दिनों से पैंथर रिजर्व घोषित नहीं हो सका। इनकी नजर इस क्षेत्र पर बनी हुई हैं।
सडक़ पर बन रहे धोरे ले रहे है लोगों की जान
जीर की चौकी से लेकर नारेहड़ा तक का सफर ओवरलोड डम्फरों के चलते टेडा हो रहा है। यहा सडक़ पर एक तरफ धोरे हो रहे है। इससे हर समय हादसे का डर बना रहता है। इसके अलावा इन धोरों के कारण कई लोगों की जान की जा चुकी है।
ऐसे चलता है अवैध खनन का खेल
खान,प्रशासन,वन व पर्यावरण विभाग से मिलीभगत
अधिकारियों की अनदेखी
अत्यधिक उत्पादन की होड़
खान सुरक्षा महानिदेशालय की उदासीनता
विरोधियों पर दबंगई व प्रशासन का नकारात्मक रवैया
सडक़ किनारे चल रही है खानें
क्षेत्र में कई खान सडक़ के किनारे चल रही हैं। नियमानुसार सडक़ से ४५ मीटर दूर खान होनी चाहिए। लेकिन कई खान सडक़ से महज बीस मीटर दूर ही स्थित हैं।

क्षेत्र में ओवरलोड वाहनों पर लगातार कार्रवाई की जा रही है। एरिया लंबा होने के कारण एक उडऩ दस्ता पूरे क्षेत्र में कार्रवाई नहीं कर पा रहा है।
रामचरण मीणा, उप परिवहन अधिकारी, नीमकाथाना