स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हनी ट्रेप में तीन लाख लेते महिला व दलाल गिरफ्तार

Narendra Kumar Sharma

Publish: Sep 12, 2019 01:56 AM | Updated: Sep 12, 2019 01:56 AM

Sikar

कोर्ट में बलात्कार पीडि़ता के बयान बदलने के लिए ११ लाख रुपए मांगे थे: एसपी को दिया परिवाद, पुलिस ने दबोचा
पुलिस ने पीडि़ता की रिपोर्ट पर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था

सीकर. हनी ट्रेप में फंसाने की एवज में तीन लाख रुपए लेते हुए पुलिस ने महिला व दलाल को गिरफ्तार किया है। १३ मई को महिला ने नीमकाथाना सदर थाने में बलात्कार का मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने १६४ के बयानों के बाद आरोपी प्रमोद को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।
दलाल ने बयान बदलने के लिए आरोपी के भाई से ११ लाख रुपए मांगे थे। पीडि़त ने एसपी को परिवाद पेश कर रुपए मांगने की शिकायत दी। तब डीएसपी सिटी सौरव तिवाड़ी के नेतृत्व में टीम गठित कर महिला व दलाल को ३ लाख रुपए लेते हुए दबोच लिया। डीएसपी सौरव तिवाड़ी ने बताया कि दलाल बलबीर निवासी नीमकाथाना व महिला को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि पुलिस अधीक्षक डा.गगनदीप सिंगला के पास अनिल कुमार निवासी गांवडी मोड नीमकाथाना ने परिवाद पेश किया था। उन्होंने बताया कि उसके भाई प्रमोद के खिलाफ एक महिला ने बलात्कार किए जाने का मुकदमा दर्ज कराया था। नीमकाथाना सदर पुलिस ने प्रमोद को बलात्कार के मामले में गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद से बलबीर, अनिल व सूरत सिंह निवासी नीमकाथाना उसे कोर्ट में बलात्कार के बयान बदलवाने की एवज में ११ लाख रुपए मांग रहे है।
उन्होंने रुपए नहीं होने की बात बोलकर मना कर दिया। तब वे तीन किश्तों में तीन- तीन लाख रुपए देने की मांग करने लगे। परिवाद पेश होने के बाद एएसपी देवेंद्र प्रकाश शर्मा केनिर्देशन में डीएसपी सौरव तिवाड़ी ने रुपए मांगे जाने का सत्यापन कराया। वे पहली किश्त के तीन लाख रुपए जल्दी देने की मांग कर रहे थे।
इसके बाद डीएसपी सौरव तिवाड़ी को सादे कपड़ों में पुलिस टीम तैनात कर ट्रेप की योजना बना कर आरोपियों को गिरफ्तार करने को कहा। पुलिस टीम ने रुपए लेते हुए दोनों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की टीमें फरार दो अन्य दलालों की तलाश में जुटी हुई है।
क्या था मामला
नीमकाथाना निवासी महिला ने १३ मई को प्रमोद के खिलाफ बलात्कार का मुकदमा दर्ज कराया थ। जसमें उसने बताया कि प्रमोद उसे जबरन ले गया और बलात्कार किया। इसके बाद किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी। थानाधिकारी कमल कुमार ने पीडि़ता के कोर्ट में १६४ के बयानों के आधार पर प्रमोद को गिरफ्तार कर लिया था। महिला शादीशुदा है और उसके दो बच्चे है। वह मूलत: खेतड़ी की रहने वाली है और पिछले ७ साल से नीमकाथाना में रहती है। उसका पति मजदूरी करता है। महिला के मुकदमा दर्ज कराने के बाद बलबीर, अनिल व सूरत सिंह ने आरोपी प्रमोद के भाई अनिल कुमार से संपर्क किया। ११ लाख रुपए में महिला के बयान बदलवा कर राजीनामा कराने की बात कहीं।