स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पहले प्याज-रोटी खाकर लोग रहगुजर कर लेते थे, लेकिन आज प्याज भी नसीब नहीं

Gaurav Saxena

Publish: Jan 17, 2020 17:27 PM | Updated: Jan 17, 2020 17:27 PM

Sikar

प्री-बजट परिचर्चा में गृहणियां एकमत... महंगाई कम करे सरकार।

नीमकाथाना. प्रदेश सरकार का आने वाला बजट ऐसा होना चाहिए कि लोगों के घर का आर्थिक समीकरण नहीं बिगड़े। बजट पेश होने के बाद आम आदमी अपना घर आसानी से चला सके। बजट से पूर्व गुरुवार को पत्रिका टॉक शो किया गया, जिसमें महिलाओं ने अपनी राय रखी। महिलाओं ने कहा कि आज के समय में व्यक्ति की आमदनी बहुत कम है और खर्चें आसमान छू रहे हैं। सरकार ऐसा बजट लेकर आए कि उससे हर व्यक्ति को फायदा पहुंच सके। महिलाओं ने कहा कि सरकार बजट में सबसे मुख्य मुद्दा महंगाई कम करने का रखे। कहते हंै कि पहले लोग प्याज रोटी खाकर अपना जीवन यापन कर लेते थे।, लेकिन वर्तमान में प्याज हर व्यक्ति को रुला रहा है। आम आदमी के लिए सब्जियां व दालें बहुत जरूरी है, लेकिन इनके भाव आसमा छूने से हर व्यक्ति के घर का बजट बिगड़ रहा है। टॉक शो में शहर की बिगड़ रही यातायात व्यवस्था, लगातार बढ़ रहे क्राइम पर लगाम लगाने के साथ सीवरेज लाइन,बेरोजगारों के लिए ज्यादा से ज्यादा रोजगार देने सहित अनेक मुद्दों को सरकार के बजट में शामिल करने की मांग की गई।
डीडीटी टैक्स कम हो
सरकार को बजट में डीडीटी टैक्स को कम करना चाहिए। युवाओं को ज्यादा से ज्यादा रोजगार देने के साथ-साथ बेरोजगारों को भत्ता देना चाहिए। युवाओं की आमदनी बढ़ाने के लिए सरकार को कुछ योजना बनानी चाहिए।
-उन्नती गोयल, छात्रा
बजट में टपकेश्वर, बालेश्वर, गणेश्वर सहित पांचों धामों को पर्यटन का दर्जा देना चाहिए। जिससे क्षेत्र का नाम हो और बेरोजगारों को रोजगार के साधन मिल सके। पर्यटन का दर्जा मिलने से धामों पर श्रद्धालुओं को भी सुविधा मिल सकेगी।
-रेखा गोयल, गृहिणी
महंगाई के कारण हर व्यक्ति की हालत खराब हो रही है। सरकार को बजट में महंगाई पर कुछ करना चाहिए। महिलाओं की सुरक्षा को देखते हुए स्थिति चिंता जनक है। सरकार को उनके लिए कुछ करना चाहिए।
- अनिता जांगिड़, ब्यूटिशियन
राजस्थान सरकार का बजट आम आदमी के अनुरूप हो। बेरोजगारी की समस्या को दूर किया जाये। महिलाओं के लिए बालिका महाविद्यालयों में सेल्फ डिफेंस खोली जाकर उसको अनिवार्य विषय बनाया जाए। बजट में पेट्रोल, डीजट भी सस्ते हो।
-रेखा गोयल, पार्षद
राजस्थान में इस समय ऑनलाइन के क्राइम बढ़ते जा रहे हैं। सरकार को इसके रोकथाम के लिए कदम उठाने चाहिए। कानून बनाकर पुलिसकर्मियों को इसकी ट्रेनिंग देनी चाहिए। जिससे क्राइम पर लगाम लग सके।
-अनिता कुमारी, गृहिणी
पहले कहा जाता था कि दाल रोटी गरीबों का भोजन होता है, लेकिन इस महंगाई के चलते वह केवल कहने को ही रह गया है। आसमान छू रहे दालों के भाव ने आम आदमी की कमर तोड़ दी है। राजस्थान सरकार का बजट साधारण व्यक्ति के अनुरूप होना चाहिए।
-अनामिका गर्ग, शिक्षिका
महिलाओं के लिए सेल्फ डिफेंस पर विशेष बजट हो। महंगी होती जा रही घरेलु आवश्यकताओं की वस्तुओं पर सरकार को रोक लगानी चाहिए। सरकार का बजट ऐसा हो कि आम आदमी इससे प्रभावित ना हो।
-राखी
महिलाओं पर बढ़ते अपराध पर सरकार को लगाम लगाने के लिए नया कानून बनाना चाहिए। महिलाओं की सुरक्षा के लिए पुख्ता व्यवस्था की जाये।
- ऋतु बंसल
सरकार को महिला स्वरोजगार पर ध्यान देना चाहिए। बजट में महिला सुरक्षा को लेकर कड़ा कानून बनाकर शामिल किया जाना चाहिए।
-मोनिका गोयल

[MORE_ADVERTISE1]